अपार्टमेंट में निवेश का झांसा देकर 200 करोड़ ठगे

  • अपार्टमेंट में निवेश का झांसा देकर 200 करोड़ ठगे
You Are HereNcr
Monday, December 23, 2013-2:58 PM

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने एक ऐसे भगोड़े व ठग को गिरफ्तार किया है,जो लोगों से रीयल इस्टेट में मोटी रकम वापस करने का झांसा देकर ठगी करता था। वह अब तक करीब 200 करोड़ की ठगी कर चुका है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान शांति निकेतन निवासी विजय दीक्षित (60) के रूप में हुई है।

उसपर सैकड़ों लोगों के साथ ठगी करने के 30 से भी अधिक मामले दर्ज हैं। इसमें से 12 मामलों में कोर्ट उसे भगोड़ा घोषित कर चुका है। उसकी गिरफ्तारी पर आर्थिक अपराध शाखा ने 50 हजार रुपए का ईनाम भी रखा था। पुलिस ने बताया कि आरोपी के अधिक उम्र दराज होने के कारण लोगों को इस पर शक नहीं होता था, जिसके कारण लोग अपना पैसा आरोपी द्वारा बताई गई स्कीमों में लगा देते थे।

आर्थिक अपराध शाखा के संयुक्त पुलिस आयुक्त प्रवीर रंजन ने बताया कि आरोपी एमएस सीनियर बिल्डर लि. और एमएस सीनियर पावर प्रोजेक्ट लि. नाम की कंपनी चलाता था। इसी के साथ ही वह अपने आपको बिल्डर, और आर्थिक सलाहकार भी बताता था। वह निवेशकों को रियल स्टेट्स से हाई रिटर्न दिलाने का झांसा देकर अपनी बातों में फंसा लेता था। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने एक रेजिडेंशियल अपार्टमेंट में फ्लैट दिलाने के बहाने निवेशकों से करोड़ों रुपए लिए और बाद में अपना ऑफिस बंद करके फरार हो गया। इस तरह की शिकायत पुलिस को नोएडा निवासी डॉ. मंजुला पाठक ने दी।

उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि आरोपी ने एक शॉपिंग मॉल में दुकान दिलाने के बहाने उनसे 1.70 करोड़ रुपए लिए थे। बाद मेंं उन्हें पता चला कि जिस जगह पर उसने शॉपिंग मॉल का प्लॉन बताया था, वह प्लॉन नोएडा अथॉरिटी ने रद्द कर दिया है।  पीड़ितों के शिकायत के बाद एडिशनल डीसीपी संजय त्यागी की देखरेख व इंस्पेक्टर जयप्रकाश और राकेश आहूजा के नेतृत्व में टीम बनाकर जांच शुरू की गई।
लेकिन जब वह आरोपी के ऑफिस पहुंची तो वह वहां से फरार हो चुका था। इन सभी शिकायतों के बाद अपराध शाखा की आर्थिक अपराध शाखा ने आरोपी पर 50 हजार का इनाम घोषित कर दिया और उसकी तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने आरोपी की तलाश में कई स्थानों पर छापेमारी की ।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You