देवयानी मामला : वापस लिए अमेरिकी रजनयिकों के पहचान-पत्र

  • देवयानी मामला : वापस लिए अमेरिकी रजनयिकों के पहचान-पत्र
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-10:01 PM

नई दिल्ली: न्यूयार्क में भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागड़े की गिरफ्तारी मामले में नई दिल्ली द्वारा भारत में नियुक्त अमेरिकी राजनयिकों के पहचान पत्र वापस लिए जाने के बाद मंगलवार को भी दोनों देशों के बीच गतिरोध बना रहा। सूत्रों ने बताया, ‘‘भारत ने मंगलवार को कहा कि यहां नियुक्त अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों को पहचान पत्र वापस किए जाने के लिए दी गई अंतिम तिथि समाप्त होने के बाद सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया गया।’’ इसके अलावा नई दिल्ली ने अमेरिकी राजनयिकों के परिवार के सदस्यों को कोई पहचान पत्र न दिए जाने का निर्णय भी लिया।

देवयानी मामले में भारत ने अमेरिका से बिना शर्त माफी मांगने और खोबरागड़े पर लगे सभी आरोप वापस लिए जाने की मांग की थी, जिसे अमेरिका ने अस्वीकार कर दिया। भारत ने प्रतिक्रिया में यहां स्थित अमेरिकी राजनयिकों को प्रदान किए गए विशेषाधिकारों में कटौती कर दी। देवयानी को बीते 12 दिसंबर को न्यूयार्क में वीजा धोखाधड़ी और अपनी नौकरानी संगीता रिचर्ड को दिए जाने वाले वेतन के बारे में झूठा बयान देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था। हिरासत में तलाशी के दौरान उनके साथ दुव्र्यवहार भी किया गया।

देवयानी को बाद में भारत ने न्यूयार्क में स्थित अपने संयुक्त राष्ट्र मिशन में स्थानांतरित कर दिया, जहां उन्हें राजनयिकों को मिलने वाले सभी प्रतिरक्षा अधिकारों का लाभ मिलेगा। भारत ने मंगलवार को यह भी कहा कि वाणिज्य दूतावास संबंधों के लिए वियना संधि के अनुसार, अब से अमेरिकी राजनयिकों को पदभार ग्रहण करने के बाद छह महीने के भीतर अपने जरूरत के सामान लाने की इजाजत दी जाएगी। इससे पहले उन्हें तीन वर्ष के लिए इसकी इजाजत दी गई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You