तांत्रिक के कहने पर मां ने दी बेटे की बलि

  • तांत्रिक के कहने पर मां ने दी बेटे की बलि
You Are HereNational
Wednesday, December 25, 2013-1:41 PM

गुवाहाटी: असम के शिवसागर जिले में एक महिला सहित चार लोगों को पुलिस ने एक नवजात बच्चे को जिंदा जला देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। जलाया गया बच्चा महिला का बेटा था जिसकी भगवान को खुश करने के लिए बलि दे दी गई। यह जानकारी पुलिस ने दी।

पुलिस ने कहा कि यह घटना सोनारी में हुई। महिला रंजू देवी ने पांच माह के अपने जुड़वां बेटों में से एक को जिस समय जिंदा जला दिया उस समय परिवार के लोग सो रहे थे। पुलिस ने कहा, ‘‘दो भाई सुनील साह और विजय साह दिहाड़ी मजदूर हैं और सोनारी में कुछ दिनों से रह रहे हैं। उनकी बहन रंजू देवी और उसके पति छोटे साह अपने तीन बच्चों- तीन वर्ष की एक बेटी और पांच माह के दो जुड़वा बेटों के साथ बिहार के दरभंगा जिले से वहां पहुंचे और उनके साथ रह रहे हैं।’’

एक तांत्रिक ने महिला को पूजा करने और अपने दो बेटों में से एक को भगवान को बलि देने के लिए कहा। स्थानीय निवासियों ने पुलिस को बताया कि महिला कथित रूप से सपने में यह देखने के बाद कि यदि उसने एक बेटे की बलि नहीं दी तो उसके दोनों बेटे मर जाएंगे। महिला ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने समीप के जंगल में दफनाए गए शव को बरामद कर लिया है। पुलिस को इस घटना के पीछे तंत्रमंत्र का संदेह है और बताया कि महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। महिला के पति छोटे साह और भाई सुनील साह को गिरफ्तार किया गया है, जबकि दूसरा भाई विजय साह फरार है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You