रिश्वतखोरी के खिलाफ हेल्पलाइन नंबर बुधवार को होगा जारीः केजरीवाल

  • रिश्वतखोरी के खिलाफ हेल्पलाइन नंबर बुधवार को होगा जारीः केजरीवाल
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-10:48 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि विभिन्न सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए एक ‘‘प्रभावशाली’’ व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए जन लोकपाल विधेयक जल्द ही लाया जाएगा। सतर्कता विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ एक बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरूवार तक एक हेल्पलाइन शुरू की जाएगी ताकि लोगों को सरकारी कर्मियों के खिलाफ भ्रष्टाचार एवं अन्य अनियमितता की शिकायतें दाखिल करने में सुविधा हो।

केजरीवाल ने कहा कि सरकार स्वराज विधेयक का मसौदा भी तैयार कर रही है और जनवरी के अंत तक उसे लागू कर देगी। बैठक के दौरान, केजरीवाल ने विभिन्न सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने वाली इकाई के कामकाज की समीक्षा की। केजरीवाल ने बैठक के बाद कहा, ‘‘गुरूवार तक हेल्पलाइन नंबर शुरू कर दिया जाएगा।

रामलीला मैदान में शपथ-ग्रहण समारोह के दौरान मैंने ऐलान किया था कि भ्रष्टाचार की शिकायतें दर्ज कराने और अधिकारियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकडऩे के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया जाएगा।’’ बैठक के बाद संवाददाताओं से मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘उसके बाद से हम इस पर काम कर रहे हैं और अब व्यवस्था तैयार है। इसके अलावा, कुछ अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया है।’’

केजरीवाल ने दोहराया कि सरकार रामलीला मैदान में विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित कर लोकपाल विधेयक पारित करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आज लोकपाल विधेयक के मुद्दे पर चर्चा हुई। हम शुरूआती मसौदा तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं और इस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हम रामलीला मैदान में लोकपाल विधेयक पारित करेंगे।’’

स्वराज विधेयक के बाबत मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अगले 10-15 दिनों में हम स्वराज विधेयक का मसौदा भी तैयार कर लेंगे। हम इसे जनवरी के अंत तक पारित कराने की कोशिश करेंगे।’’ राज्य सतर्कता विभाग में खाली पड़े पदों पर चिंता जताते हुए केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने उप-राज्यपाल और दिल्ली पुलिस के आयुक्त के सामने इस मुद्दे को उठाया है। केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस के अधिकारी प्रतिनियुक्ति पर सतर्कता विभाग में आते हैं। 30 पुलिस कर्मियों के स्वीकृत पद हैं लेकिन इन पर सिर्फ 11 कर्मी ही तैनात हैं।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You