अब ट्रांसपोर्ट विभाग के नियंत्रण में होंगे दिल्ली के ऑटो चालक

  • अब ट्रांसपोर्ट विभाग के नियंत्रण में  होंगे दिल्ली के ऑटो चालक
You Are HereNational
Wednesday, January 08, 2014-9:41 PM

नई दिल्ली : विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली के ऑटो चालकों ने आम आदमी पार्टी का जमकर समर्थन किया था। अब केजरीवाल की सरकार ऑटो चालकों को खुश करने में लग गई है। सूत्रों के अनुसार केजरीवाल सरकार ऑटो चालकों से संबंधित शिकायतों के निपटारे की जिम्मेदारी दिल्ली ट्रैफिक पुलिस से लेकर परिवहन विभाग को सौंपने वाली है।

सीएनजी के बढ़ते दाम को कम कराने में असफल रही केजरीवाल की सरकार इसी बहाने एक तीर से दो निशाना साधने की तैयारी में है।
केजरीवाल ऑटो चालकों को खुश रखनेे और केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन दिल्ली पुलिस को एक दायरे तक सीमित रखकर अपना वोट बैंक बरकरार रखना चाहते हैं।

यदि ऐसा होता है तो ऑटो चालक अब सीधे ट्रांसपोर्ट विभाग के नियंत्रण होंगे। जिससे दिल्ली पुलिस अब ऑटो चालकों की मनमानी पर अंकुश नहीं लगा सकेगी। केजरीवाल के इस कदम से दिल्ली के ऑटो चालक काफी खुश हैं। इनकी मनमानी के खिलाफ  दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बीते साल 2 लाख से ज्यादा ऑटो चालकों का चालान किया था। लेकिन अब आप के वोटर माने जाने वाले इन ऑटो चालकों को इससे राहत मिलने की कवायद हो रही है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने परिवहन विभाग के आयुक्त अरविंद रे से बात की थी। लेकिन कर्मचारियों की कमी होने की बात कह कर रे ने इस जिम्मेदारी को लेने से साफ इंकार कर दिया तो रे को हटा कर ज्ञानेश भारती को परिवहन आयुक्त बनाया गया। लेकिन सरकार के लिए यह राह आसान नहीं है, क्योंकि प्रवर्तन विभाग में सिर्फ 41 कर्मचारी हैं और इतने कम कर्मचारियों के सहारे दिल्ली के 79 हजार 847 ऑटो पर लगाम लगाना आसान नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You