‘छुपे गठजोड़’ से सीधी लड़ाई के लिये तैयार रहें कार्यकर्ता: मायावती

  • ‘छुपे गठजोड़’ से सीधी लड़ाई के लिये तैयार रहें कार्यकर्ता: मायावती
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-3:06 PM

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं को आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा, कांग्रेस और सपा के ‘छुपे गठजोड़’ से सीधी लड़ाई के लिये तैयार रहने के निर्देश देते हुए आज कहा कि वे दलित शक्ति के खिलाफ एकजुट हुई ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देकर देश में सुशासन के लिये बसपा को केन्द्र की सत्ता में लाएं। मायावती ने खुद को मुसलमानों का रहनुमा बताने की कोशिश की और कहा कि बसपा को मुसलमानों का एकजुट वोट मिलने से भाजपा तथा अन्य साम्प्रदायिक ताकतें कमजोर हो जाएंगी। उन्होंने केन्द्र की संप्रग तथा उत्तर प्रदेश की सपा सरकार को भी जमकर खरी खोटी सुनायी, वहीं भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के वादों की विश्वसनीयता और उनकी नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल खड़े किये।

मायावती ने अपने 58वें जन्मदिन पर यहां आयोजित बसपा की ‘सावधान रैली’ के जरिये लोकसभा चुनाव के लिये पार्टी के अभियान का शंखनाद करते हुए कहा कि वर्ष 2007 में जब उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आयी तो पूर्व में बसपा को हल्के में लेनी वाली भाजपा, कांग्रेस और सपा में घबराहट बढ़ी और वे तीनों अंदरखाने एकजुट हो गयीं, जिससे बसपा को नुकसान हुआ। उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 में हुए लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस, भाजपा और सपा दलित वर्ग की ‘लड़की’ को पराजित करने के लिये एकजुट हो गयीं और उन्होंने जहां-जहां बसपा का प्रत्याशी मजबूत स्थिति में था वहां उसे नजदीकी टक्कर दे रहे कांग्रेस, या भाजपा अथवा सपा के उम्मीदवार के पक्ष में अपने वोट भी एकमुश्त डलवा दिये। वर्ष 2012 में प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में भी इसकी पुनरावृत्ति हुई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You