दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार को सौंपी जाए: केजरीवाल

  • दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार को सौंपी जाए: केजरीवाल
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-7:36 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में अपराध की दर को काफी उंचा बताते हुए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार को सौंपने की मांग की। उन्होंने कहा कि जब भी कोई अपराध होता है तो जनता जवाब चाहती है। केजरीवाल ने गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे से मुलाकात के बाद यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘जब कभी भी अपराध होता है, जनता हमारे पास जवाब मांगने आती है। अब समय आ गया है कि दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार को सौंपी जाए।’’

केजरीवाल ने कहा कि यदि आवश्यक है तो एनडीएमसी क्षेत्र और लुटियन जोन की सुरक्षा केन्द्र सरकार के पास रह सकती है लेकिन बाकी राष्ट्रीय राजधानी की कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी दिल्ली सरकार को सौंपी जानी चाहिए। दिल्ली पुलिस गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में है। मुख्यमंत्री के साथ उनकी कैबिनेट के मंत्री मनीष सिसोदिया, सोमनाथ भारती और राखी बिडला भी थे। केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने उन पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग की है, जिन्होंने डेनमार्क की महिला से बलात्कार, मालवीय नगर में ड्रग रैकेट और पश्चिम दिल्ली में दहेज से जुडे मामले में एक महिला की मौत के मामलों में ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरती।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अपराध की दर काफी उंची है और इस पर लगाम लगाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वह उनकी मांगों पर विचार करेंगे और अगले कुछ दिन में उनसे बात करेंगे। बाद में जब पूछा गया कि क्या दिल्ली सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है, सिसोदिया ने कहा कि ऐसा नहीं है लेकिन वे जनता के लिए और जिम्मेदार बनने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बड़ी जिम्मेदारी है और उसे दिल्ली सरकार को सौंपा जाना चाहिए। केजरीवाल की बैठक के बाद दिल्ली के पुलिस आयुक्त बी एस बस्सी भी गृह मंत्री से मिले।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You