तेलंगाना विधेयक पर चर्चा के लिए राष्ट्रपति ने 7 दिन और दिए

  • तेलंगाना विधेयक पर चर्चा के लिए राष्ट्रपति ने 7 दिन और दिए
You Are HereNational
Thursday, January 23, 2014-7:15 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने तेलंगाना विधेयक को केन्द्र को लौटाने से पहले इस पर चर्चा के लिए आज आंध्र प्रदेश विधानसभा को 30 जनवरी तक सात दिन का और समय दिया। केंद्र ने विधेयक को संसद के आगामी सत्र में पेश करने का वादा किया है। आंध्र प्रदेश सरकार के अनुरोध के बाद राष्ट्रपति ने यह फैसला किया।

सरकार ने विधेयक को राज्य विधानसभा के हवाले करते समय उनके द्वारा निर्धारित 23 जनवरी की समय सीमा को चार सप्ताह के लिए बढ़ाने का आग्रह किया था। सरकारी सूत्रों ने बताया कि आंध्र प्रदेश पुनर्गठन विधेयक को अब राज्य विधानसभा द्वारा अपनी राय के साथ अथवा उसके बिना 30 जनवरी तक लौटाना होगा। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि विधानसभा की जो भी राय हो, संसद नये राज्य के गठन की अपनी विधायी प्रक्रिया पर आगे बढ़ सकती है।

सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार के अनुसार विधेयक पर विधानसभा में कुछ ही दिन के लिए चर्चा हुई है और बहुत से विधायकों को अभी इसपर बोलना है, इसलिए समयसीमा का विस्तार जरूरी है। राज्य पुनर्गठन विधेयकों पर चर्चा के लिए समयसीमा बढ़ाए जाने के उदाहरण हैं। तत्कालीन राष्ट्रपति ने छत्तीसगढ़ गठन के लिए विधेयक पर चर्चा करने और उसे मंजूरी देने के लिए मध्य प्रदेश विधानसभा को दी गई समयसीमा बढ़ाई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You