मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, नहीं कम होगा बिजली का बिल

  • मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, नहीं कम होगा बिजली का बिल
You Are HereNational
Friday, January 24, 2014-3:37 PM

 नई दिल्ली(कुमार गजेन्द्र): कश्मीर की रहने वाली और हार्ट पेशेंट एक महिला पिछले एक माह से दिल्ली सचिवालय स्थित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आफिस के चक्कर काट रही है। पहले तो मुख्यमंत्री कार्यालय ने इस महिला को जमकर चक्कर कटवाए, अब मुख्यमंत्री ऑफिस की ओर से कह दिया गया कि हम आपका बिजली बिल कम करवाने के लिए नहीं बैठे हैं।

 पीड़ित महिला का आरोप है कि ऑफिस में मौजूद एक महिला अधिकारी ने उन्हें साफ तौर से कह दिया कि अब आपको यहां आने की जरूरत नहीं है। वीरवार को सचिवालय के बाहर महिला की मुलाकात लक्ष्मी नगर से विधायक विनोद कुमार बिन्नी से भी मिलीं लेकिन उन्होंने भी मदद करने से इंकार कर दिया। 

पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में रहने वाली राणा अली (55) मूलरूप से उनका परिवार कश्मीर का रहने वाला है। वह लक्ष्मी नगर के नारायण नगर में किराए के मकान में रहती हैं। 5 लोगों के इस परिवार का गुजारा सरकार की ओर से कश्मीर के निवासियों को दी जाने वाली 6600 रुपए की सहायता राशि से चलता है।

महिला का कहना है कि 28 मार्च को बी.एस.ई.एस. की ओर से उन्हें 3590 रुपए का बिल भेजा गया था। इस बिल के भुगतान के एवज में उनकी बेटी शरबत ने राजीव नाम के एक कर्मचारी को इतनी रकम का एक चैक काटकर दे दिया। यह चेक जम्मू एंड कश्मीर बैंक चांदनी चौक ब्रांच का था, जिसका नंबर 547366 दिनांक 28 मार्च 2013 था। 

इस चैक की रकम बिजली खाते में भी चली गई। इसकी पुष्टि शरबत की बैंक स्टेटस से भी साबित होती है लेकिन बिजली कंपनी ने पिछले बिल का जुर्माना लगाते हुए अगला बिल दिसम्बर में 12450 रुपए का भेज दिया। बिजली का इतना बड़ा बिल देखकर परिवार बेहद परेशान हो गया। पीड़िता का कहना है कि उन्होंने इसकी शिकायत बिजली कंपनी से की लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की।

इसके बाद वह केजरीवाल के घर व दफ्तर के इस आस में चक्कर लगाने लगीं कि केजरीवाल उनका बिल कम करवा देंगे लेकिन वह आज तक केजरीवाल से मिल नहीं पाईं। अब तो उनके ऑफिस की ओर से यहां आने के लिए भी मना कर दिया गया है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You