जमीन देने पर विचार करेगा डी.डी.ए.

  • जमीन देने पर विचार करेगा डी.डी.ए.
You Are HereNcr
Friday, January 31, 2014-1:33 PM

नई दिल्ली: मिलेनियम बस डिपो को शिफ्ट करने के लिए जगह देने से इंकार करने के ठीक एक दिन बाद अब डी.डी.ए. ने दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष कहा है कि वह इस मामले में फिर से विचार करेगी। डी.डी.ए. ने कहा है कि जब डी.टी.सी. इस पूरे मामले पर अपना प्लान तैयार कर लेगी, तो उसके बाद डी.डी.ए. जमीन के मामले पर विचार करेगा ।

डी.डी.ए. की तरफ से यह आश्वासन खंडपीठ की उस टिप्पणी पर दिया गया,जिसमें कहा गया कि डी.डी.ए. इस तरह इस मामले में अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती है। खंडपीठ ने कहा कि अगर डी.डी.ए. जमीन नहीं देगी तो एक हजार बस सड़क पर आ जाएंगी और हर तरफ क्या हालात होगी।

ऐेसे में आम जनहित के बारे में सोचा जाना चाहिए। जिसके बाद डी.डी.ए. ने कहा कि वह मामले में फिर से विचार करंेगे। अब इस मामले में 19 फरवरी को सुनवाई होगी। यमुना के किनारे बने मिलेनियम डिपो को न्यायालय के आदेश के बाद दिल्ली सरकार उसे शिफ्ट करने को तैयार हो चुकी है परंतु अब जगह की दिक्कत आ रही है।

न्यायमूर्ति एस.के.मिश्रा ने डी.डी.ए. को निर्देश दिया है कि अगली सुनवाई पर उनका वरिष्ठ अधिकारी अदालत में पेश हो और डी.टी.सी. को जमीन देने के संबंध में पूरी जानकारी अदालत को दें। बुधवार को डी.डी.ए. ने अदालत के समक्ष कहा था कि वह डी.टी.सी. को जमीन नहीं दे सकती है क्योंकि उनके पास पहले ही जमीन की कमी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You