मोदी की विजय शंखनाद रैली के लिए भाजपा ने झोंकी ताकत

  • मोदी की विजय शंखनाद रैली के लिए भाजपा ने झोंकी ताकत
You Are HereUttar Pradesh
Friday, January 31, 2014-4:04 PM

मेरठ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के मेरठ में होने वाली सातवीं विजय शंखनाद रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी ने अपनी सारी ताकत झोंक दी है मोदी की यह रैली इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दंगा प्रभावित मुजफ्फरनगर और शामली के नजदीक होनी है। गुजरात में वर्ष 2002 में हुए दंगों के सम्बंध में तमाम राजनीतिक आलोचना झेल रहे श्री मोदी का इस रैली में सम्बोधन लोकसभा चुनाव के मद्देनजर काफी राजनीतिक मायने रखेगा। मोदी और उनके नजदीकी अमित शाह पहली बार इस क्षेत्र में एक साथ होंगे। इससे पहले किसी विवाद में न पड़ते हुए दोनों ने दंगा प्रभावित क्षेत्रों में जाने से परहेज किया था।

गौरतलब है कि दंगों के आरोप में भाजपा के विधायक सुरेश राणा, संगीत सोम पर गैंगेस्टर एक्ट लगाया गया था। मोदी की उत्तर प्रदेश में यह सातवीं और आखिरी विजय शंखनाद रैली होगी। इसके बाद दो मार्च को लखनऊ में महारैली का आयोजन किया गया है। जाट बिरादरी के वोटों को अपनी तरफ खींचने के लिए भाजपा ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह और जाट नेता महेन्द्र सिंह टिकैत की तारीफ करते हुए उन्हें किसानों का मसीहा बताया। रैली को सफल बनाने के लिए यहां डेरा डाले हुए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने दावा किया कि यह रैली ेतिहासिक और विशाल होगी। इस रैली में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 15 जिलों के लोग शामिल होंगे। रैली में आसपास के जिलों में गाजियाबाद शामिल है जहां से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह सांसद हैं जबकि मेरठ से राजेन्द्र अग्रवाल भी वर्तमान भाजपा सांसद हैं।

भाजपा ने 2009 के हुए लोकसभा चुनाव में यहां से राष्ट्रीय लोकदल से चुनाव पूर्व हुए गठबंधन में तीन लोकसभा सीटों पर विजय हासिल की थी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 15 और विधानसभा की 70 सीटें हैं जिसमें कैराना सीट से विधानसभा सदस्य हुकुम सिंह सहित भाजपा के 15 विधायक वर्तमान उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य हैं। इस  रैली के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश से लोगों को लाने के लिए दो हजार बसों का इन्तजाम किया गया है1 इसमें से 500 बसों का इन्तजाम शामली और मुजफ्फरनगर क्षेत्र के लिए किया गया है जहां से आठ बसों को अल्पसंख्यक लोगों को लाने के लिए लगाया गया है। भाजपा जिला अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी ने घर घर जाकर लोगों से रैली को सफल बनाने का अभियान चलाया है। उन्होंने दावा किया है कि 30 हजार लोग बिजनौर. 18 हजार लोग मुरादाबाद ग्रामीण, पांच हजार लोग मुरादाबाद शहर, 10 हजार लोग रामपुर, गाजियाबाद के ग्रामीण इलाकों से 25 हजार, गाजियाबाद शहर से 10 हजार, हापुड से 30 हजार, गौतमबुद्धनगर से 22 हजार, सम्भल से 10 हजार और राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष अजित सिंह के संसदीय क्षेत्र बागपत से 35 हजार लोग इस रैली में भाग लेंगे।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You