अब आनलाइन उपलब्ध होंगे सार्वजनिक पुस्तकालय

  • अब आनलाइन उपलब्ध होंगे सार्वजनिक पुस्तकालय
You Are HereNcr
Saturday, February 01, 2014-3:14 PM

नई दिल्ली: पूरे देश में सार्वजनिक पुस्तकालय के संसाधन एवं सामग्रियों को अब इंटरनैट पर एक बटन क्लिक करके देखा जा सकता है। संस्कृति मंत्रालय एक आनलाइन पोर्टल पेश करने जा रहा है जहां साहित्य और टाइटल डिजिटल रूप में उपलब्ध होंगे। राष्ट्रीय पुस्तकालय मिशन  के तहत देश के 34 हजार पुस्तकालयों को इस पहल के दायरे में लाया जा रहा है।

इसके माध्यम से आम लोग ऑनलाइन माध्यम से डिजिटल सामग्री और पुस्तकों को ढूंढ सकेंगे। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 3 फरवरी को राष्ट्रपति भवन में एन.एम.एन. पेश करेंगे। संस्कृति मंत्रालय के संयुक्त सचिव जे श्रीनिवास ने कहा कि इस वैबसाइट के जरिये भारत में पुस्तकालय पंजीकरण कराने के बाद एन.एम.एल. के तहत कोष प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि 2017 तक पाठकों की संख्या में काफी इजाफा होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You