वैलेंटाइन वीक पर बाबा रामदेव को याद आया 'अफेयर'

  • वैलेंटाइन वीक पर बाबा रामदेव को याद आया 'अफेयर'
You Are HereNational
Friday, February 07, 2014-8:15 PM

नागपुर: योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा है कि वह 15 वर्ष की आयु में विवाह नहीं करने की प्रतिज्ञा ले चुकें हैं इसलिए कभी किसी से अफेयर तक नहीं किया है।

बाबा रामदेव ने यहां तिलक पत्रकार भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि हमारे देश में जातिगत आधार पर आरक्षण देने से बहुत बड़ा वर्ग आरक्षण के लाभ से वंचित है। उन्होंने कहा कि जातिगत आधार पर आरक्षण देने से बहुत सी जातियों के ऐसे बड़ी संख्या में लोग आरक्षण के लाभ से वंचित हैं जो आर्थिक रूप से काफी कमजोर हैं। इसलिए देश में आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की आवश्यकता है।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को मुद्दों के आधार पर समर्थन दिया है। इसलिए सत्ता में आने और राज सिहांसन पर बैठने के बाद मोदी को उनके मुद्दों को पूरा करने के लिए राजनीतिक आसन कराते रहेंगे।

बाबा रामदेव ने कहा कि उनकी भीषण प्रतिज्ञा है कि वे कभी भी चुनाव नही लड़ेंगे और न ही किसी पद पर आसीन होंगे। उन्होंने कहा कि वह 15 वर्ष की आयु में विवाह नहीं करने की प्रतिज्ञा ले चुकें हैं इसलिए कभी किसी से अफेयर तक नहीं किया है। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि भ्रष्टाचार सभी दलों में व्याप्त है और इससे भाजपा भी अछूती नहीं है, लेकिन भाजपा के शीर्ष नेता भ्रष्टाचार से मुक्त है जबकि कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्व  भ्रष्टाचार में लिप्त है।

बाबा रामदेव ने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त भारत, काले धन की वापसी, देश में सभी कर समाप्त कर एक ही कर की प्रणाली लागू करने और सम्पूर्ण देश में गोहत्या पर प्रतिबंध के उनके मुद्दों को भाजपा अपने घोषणा पत्र में शामिल करेगी।

बाबा रामदेव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मोदी न तो कट्टरवादी है न ही हिटलरवादी है, मोदी राष्ट्रवादी और मानवतावादी है। इसी कारण से देशभर में मोदी को प्रधानमंत्री बनाने की लहर चल रही है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार दिल्ली में व्यवस्था परिवर्तन नही कर रही है, बल्कि व्यवस्था को तोड़ रही है जो न्यायपूर्ण नहीं है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली की आप सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अन्ना हजारे और उनके आंदोलन ने खड़ा किया है। लेकिन सरकार बनाने के बाद  केजरीवाल अपनी राह भटक गए हैं इसलिए पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार के मामले में कार्रवाई करने के लिए सबूत मांग रहे  हैं। केजरीवाल ने आप पार्टी की झाड़ू कांग्रेस के हाथ में सौप दी है।

 उन्होंने कहा कि देश में तीसरा मोर्चा राजनीति विकल्प नहीं बन पाएगा। क्योंकि तीसरे मोर्चा की न तो नीति और न ही उसका नेतृत्व कौन करेगा स्पष्ट है। क्योंकि इसमें शामिल राजनीति दल देश की थर्ड ग्रेड पार्टियां हैं जिन्हें देश की जनता नकारने को तैयार बैठी है।

बाबा रामदेव ने दावा करते हुए अगले लोकसभा चुनाव में मोदी की लहर होने के कारण भाजपा एवं एनडीए को करीब 300, कांग्रेस नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) को 50, तीसरे मोर्चे  को 50 से 100 और अन्य दलों को 50 से 100 सीटे मिलेगी। इस आधार पर एनडीए की सरकार बनना तय है।

उन्होंने कहा कि मोदी के समर्थन वे देशभर में आगामी एक मार्च से डोर टू डोर अभियान शुरू कर रहे हैं। इसके तहत उनके संगठन के कार्यकर्ता अपने अपने राज्यों में मतदाताओं के घरों में जाकर मोदी को वोट देने की अपील करने के साथ इसके समर्थन में अपना वोटर आईडी मोबाइल फोन पर एसएमएस करेंगे। उन्होंने कहा कि इस अभियान में देशभर के 25 से 30 करोड़ मतदाता शामिल होंगे। इसके साथ ही उनका योग महोत्सव भी चलेगा। इसके तहत आगामी 23 मार्च को दिल्ली में आयोजित किए जाने वाले योग महोत्सव में देश के आध्यात्मिक शीर्ष नेतृत्व शामिल होगा। साथ ही इसमें शामिल होने के लिए कुछ राजनैतिक दलों के शीर्ष नेतृत्व को भी आमंत्रित किया जा रहा है।

बाबा रामदेव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उनका फिलहाल राजनैतिक दल बनाने का कोई इरादा नहीं है, क्योंकि इस समय देश में राष्ट्रवादी शक्तियों को एकत्रित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भविष्य में राजनैतिक दल बनाने के लिए उनके दरवाजे बंद नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You