'असीमनंदा को भागवत के खिलाफ बयान देने के लिये लालच दिया गया'

  • 'असीमनंदा को भागवत के खिलाफ बयान देने के लिये लालच दिया गया'
You Are HereNational
Saturday, February 08, 2014-11:48 AM

बेंगलूर:  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को समझौता एक्सप्रेस मामले में लपेटने के उद्देश्य से मामले के आरोपी असीमनंदा को उनके खिलाफ बयान देने के लिये प्रलोभन दिया है। भाजपा प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने आज यहां संवाददताओं से बातचीत के दौरान कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह पार्टी के प्रधानमंत्रीपद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की राह में रूकावट डालने क लिये ही समझौता एक्सप्रेस मामले में भगवत को जोडने का षडयंत्र कर रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस आम चुनाव के पहले ऐसे हथकंडे अपनाती है। श्रीमती लेखी ने भागवत को 2007 की घटना की जानकारी होने संबंधी असीमानंद के दावे को खारिज करते हुये कहा कि यह कांछरेस का षडयंत्र है और वह भ्रष्टाचार, महंगाई और देश की आॢथक गिरावट जैसे मसलों की ओर से लोगों का ध्यान हटाने के लिये वह ऐसा कर रही है।

उन्होंने कहा कि ऐसे समय जब चुनाव समीप है कांग्रेस इस तरह के हथकंडे अपना रही है और यह मोदी की राह में रूकावट डालने की कोशिश है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिये हाथ मिला लिया है और जुगलबंदी का खेल खेल रही हैं।

वहीं, असीमानंद का साक्षात्कार करने वाली पत्रिका के कार्यालय के बाहर कल प्रदर्शन किया। हिंदू सेना के सदस्यों ने पत्रिका की प्रतियां जलायी और यह खबर प्रकाशित करने को लेकर उससे सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की मांग की। हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने कहा, ‘‘हम नहीं जानते कि स्वामी असीमानंद ने कोई बयान दिया या नहीं लेकिन कैसे कोई पत्रिका आतंकवाद आरोपी के बयान के आधार पर ऐसे वरिष्ठ हिंदू नेताओं के खिलाफ आरोप छाप सकती है। ’’ असीमानंद ने कथित साक्षात्कार में कहा था कि आतंकवादी कृत्यों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का नेतृत्व शामिल था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You