आज भी छुआछूत का शिकार होता हूं मैं: मोदी

  • आज भी छुआछूत का शिकार होता हूं मैं: मोदी
You Are HereNational
Monday, February 10, 2014-6:49 AM

कोच्चि: भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि देश में बहुत सारे लोगों के लिए वह आज भी अछूत हैं। केरल में दलितों की अग्रणी संस्था केरल पुलयार माहा की ओर से आयोजित ‘कयल सामरम’ के उद्घाटन समारोह में मोदी ने कहा, ‘‘मैं आज भी छुआछूत का शिकार होता हूं।’’

 मोदी ने कहा, ‘‘देश में राजनीतिक घटनाओं का जायजा लेने के बाद मैं विश्वास और नम्रता के साथ कह रहा हूं कि देश में अगले 10 साल दलितों और पिछड़े वर्गों के होंगे।’’

कोच्चि के मेयर और कांग्रेस नेता टोनी चेमणि की मौजूदगी का जिक्र करने के बाद मोदी ने छुआछूत का मुद्दा उठाया। टोनी को इस कार्यक्रम में आना था पर वह नहीं आए। अयनकाली और बाबा साहेब अंबेडकर जैसे प्रबुद्ध नेताओं द्वारा निभायी गयी भूमिका का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘अगले 10 साल आपके होने वाले हैं।’’

लोगों से अंधविश्वास से लडऩे और बच्चों को अधिकतम शिक्षा प्रदान करने की अपील करते हुए मोदी ने कहा कि विकास के लिए दोनों चीजें जरूरी हैं। अंबेडकर के नारे ‘‘शिक्षा, एकता एवं संघर्ष’’ को आज भी प्रासंगिक बताते हुए मोदी ने कहा, ‘‘इंसाफ पाना भीख मांगना नहीं है बल्कि यह हर नागरिक का अधिकार है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You