इस सत्र में तेलंगाना विधेयक होने की संभावना कम

  • इस सत्र में तेलंगाना विधेयक होने की संभावना कम
You Are HereNational
Friday, February 14, 2014-2:12 AM
नई दिल्ली(अजीत के. सिंह): कांग्रेस पार्टी ने भारी हंगामे के बावजूद भले ही वीरवार को लोकसभा में तेलंगाना विधेयक पेश कर दिया हो लेकिन यह विधेयक चालू सत्र में ही पास हो पाएगा इसकी संभावना बेहद कम है। पार्टी के सूत्रों के अनुसार पार्टी इस सत्र में इसे पास करवाने की कोशिश तो जरूर करेगी लेकिन इसे पास कराने को लेकर कोई हायतौबा नहीं मचाने वाली है। 
 
इस विधेयक के पास होने को लेकर खुद कांग्रेस भी आश्वस्त नहीं है। इस विधेयक को संसद में पेश करने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और  केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे से इसे बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा ‘यह विधेयक अब संसद की संपत्ति है। अगर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार इस विधेयक पर बहस कराने में सफल होती हैं तो उसके बाद इस विधेयक पर वोटिंग कराई जाएगी।
 
लोकसभा से पास होने के बाद इस बिल को राज्यसभा की मंजूरी के लिए भी भेजा जाएगा। तेलंगाना विधेयक के विरोध में हुए हंगामे को देखते हुए चूंकि लोकसभा की कार्रवाई 17 फरवरी तक स्थगित कर दी गई है, ऐसे में सरकार के पास इतना समय नहीं होगा कि वह इस बिल को लेकर संसद की कार्रवाई और बाधित होने दे। इसकी वजह है। दरअसल इस सत्र को 21 फरवरी तक ही चलना है और सरकार को सड़कों के किनारे अस्थायी रूप से दुकान लगाने वाले लोगों के हित से जुड़े वेंडिंग विधेयक के अलावा अपराध    निरोधक 5 विधेयक भी इस सत्र में पेश करने हैं। 
 
साथ ही सरकार को 17 फरवरी को अंतरिम बजट भी संसद में पेश करना है और जैसा कि सूत्र बता रहे हैं सरकार महिला आरक्षण विधेयक को भी इस सत्र में लोकसभा में पेश करने की कोशिश कर सकती है। 
 
सरकार इन विधेयकों को लटकाकर मतदाताओं को यह संदेश भी देना चाहती है कि अगर कांग्रेस की सरकार केंद्र में दोबारा आती है तो वह इन विधेयकों को संसद से पास करवाने की कोशिश करेगी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You