बढ़ रही जनसंख्या के कारण जल संरचना हो रही प्रभावित: शिवराज

  • बढ़ रही जनसंख्या के कारण जल संरचना हो रही प्रभावित: शिवराज
You Are HereNational
Friday, February 14, 2014-3:09 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनसंख्या में वृद्धि और शहरीकरण के कारण जल संरचनाओं के प्रभावित होने पर आज चिंता जताते हुए कहा कि जल और इनसे जुडी संरचनाओं के संरक्षण के प्रति समाज और आम लोगों को जागरूक होना होगा। चौहान ने झीलों के शहर भोपाल में झील महोत्सव के तहत आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जलस्तर में लगातार गिरावट और पानी की कमी गंभीर समस्याएं हैं।

 

जल संरक्षण के लिए नई जल संरचनाएं बनाने के साथ ही पुरानी जल संरचनाओं को सहेजना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि इस काम में सरकारी प्रयासों के साथ ही आम लोगों की सक्रियता भी आवश्यक है। उन्होंने जल से जुडे देशज ज्ञान को संभालने और इसे बढ़ाने की जरूरत बताते हुए कहा कि जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। इसलिए तालाब, बावड़ी और कुओं को बचाने के लिए समाज सरकार के साथ खडा हो।

 

उन्होंने तालाबों और अन्य जल संरचनाओं के आसपास अतिक्रमण हटाने के निर्देश देते हुए कहा कि जागरूकता के अभाव की वजह से तालाबों के प्रति अपनत्व के भाव में कमी आई है। चौहान ने बताया कि राज्य के बुंदेलखंड अंचल में तालाबों को नदी से जोडने की योजना पर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार नदियों के जोडने की योजना पर पहले से ही काम कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में संचालित ‘आओ बनाए मध्यप्रदेश’ अभियान के तहत जल संरक्षण के काम से आम जन को जोडने की विशेष पहल भी की जा रही है।

 

नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने इस अवसर पर कहा कि जल संरचनाएं हमारी संस्कृति और परंपरा से जुडी हुई हैं। जल संरचनाएं अपनी पहचान खो रही हैं और यह समाज के लिए एक चुनौती है। इनके संरक्षण का दायित्व हम सभी का है। जल ही नहीं जंगल और जमीन जीवन के आधार हैं। मुख्य सचिव एंटोनी डिसा ने तालाबों और झीलों का महत्व बताते हुए कहा कि इनके जरिए हमारा पर्यावरण संतुलित रहता है। ये जैव विविधता और जीव जगत के केंद्र हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में लगभग डेढ़ सौ तालाबों के अस्तित्व को बचाने का कार्य किया जा रहा है। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव मदनमोहन उपाध्याय, विभिन्न पर्यावरण विशेषज्ञ और नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के प्रमुख सचिव एस एस मिश्रा भी मौजूद थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You