अनाजमंडी में सैकड़ों क्विंटल धान भीग कर बर्बाद

  • अनाजमंडी में सैकड़ों क्विंटल धान भीग कर बर्बाद
You Are HereNational
Sunday, February 16, 2014-7:27 PM
नई दिल्ली :  राजधानी की नरेला अनाजमंडी में दो दिन से हो रही रुक-रुक कर बारिश में खुले में सैकड़ों क्विंटल धान भीग कर बर्बाद चुके हैं या पानी में बह गए हैं। इससे किसानों व कारोबारियों को काफी क्षति पहुंची है।  बारिश से अनाज को बचाने के लिए मंडी के कर्मचारी पंप लगाकर पानी निकालने में जुटे हैं। यह स्थिति तब है जब यहां अनाज को सुरक्षित रखने के लिए ऑक्शन शेड बनाने की योजना है। 
 
हालांकि बारिश के बाद शनिवार सुबह मंडी व बोर्ड के अधिकारियों ने मंडी का जायजा लिया। वर्ष-1986 में नरेला में नई अनाज मंडी की स्थापना के बाद किसानों व कारोबारियों को अब भी संसाधनों की कमी से जूझना पड़ रहा है। इस समय रोजाना पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश से धान की आवक हो रही है। इस समय गुणवत्ता के लिहाज से धान की कीमत 2300-5600 रुपये प्रति क्विंटल किसानों को मिल रही है। 
 
33 एकड़ जमीन में बनी इस मंडी में अनाज को रखने के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। खुले में अनाज व्यवस्थित ढंग से रहे, इसके लिए दिल्ली सरकार ने यहां ऑक्शन शेड लगाने की योजना पिछले साल ही तैयार की थी। इस पर अब तक काम शुरू नहीं हुआ। इस समय डेढ़ लाख बोरे धान खुले में हैं।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You