मोदी अगर आंध्र को एकजुट रखने में मदद करेंगे, तो हम उनका समर्थन करेंगे: रेड्डी

You Are HereNational
Monday, February 17, 2014-5:02 PM

नई दिल्ली:  तेलांगना मुद्दे को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख जगन मोहन रेड्डी अपने समर्थकों के साथ धरना देने वाले हैं। इसके लिए सीमांध्र इलाके से कई ट्रेनों में लोग दिल्ली पहुंच रहे हैं। वाईएसआर कांग्रेस के नेताओं के मुताबिक जंतर-मंतर पर करीब सात हजार लोग धरने पर बैठेंगे। इसके अलावा दिल्ली के रामलीला मैदान में भी तेलंगाना के विरोध में एक बड़ी रैली होने वाली है, जिसमें आंध्र सरकार के कर्मचारी और वहां के कई स्वयंसेवी संगठन से जुड़े लोग शामिल हो रहे हैं।

वाईएसआर कांग्रेस का कहना है कि तेलंगाना राज्य बनाने का फैसला पूरी तरह एकतरफा है, क्योंकि राज्य के 75 फीसदी लोग आंध्र के विभाजन के विरोध में हैं। रेड्डी ने कहा कि सिर्फ राजनीतिक मकसद से आंध्र का विभाजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी अगर आंध्र को एकजुट रखने में मदद करेंगे, तो हम उनका समर्थन करेंगे।

जगनमोहन रेड्डी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर राजनीतिक लाभ के लिए राज्य को बांटने का आरोप लगाया। यहां जंतरमंतर पर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे जगन ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ दल ने राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के एकमात्र उद्देश्य के साथ राज्य को विभाजित करने का विचार पेश किया क्योंकि उसे उम्मीद है कि तेलंगाना में टीआरएस के सहयोग से वह कुछ सीटें जीत सकता है।

सोनिया गांधी के इतालवी मूल का संदर्भ देते हुए जगन मोहन ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को ‘‘इतालवी राष्ट्रीय कांग्रेस’’ करार दिया और कहा ‘‘यहां तक कि अंग्रेजों ने भी वह नहीं किया जो उन्होंने मेरे आंध्रप्रदेश राज्य में किया।’’ उन्होंने कहा कि राज्य के विभाजन के विरोध में कांग्रेस के एक सांसद द्वारा संसद में काली मिर्च के पाउडर का उपयोग किया जाना वास्तव में सीमांध्र के सांसदों को निलंबित करने के लिए कांग्रेस का षड्यंत्र था।

गौरतलब है कि इसी मुद्दे पर संसद में 13 फरवरी को जोरदार हंगामा हुआ था और मिर्च का स्प्रे भी किया गया था, जिसके बाद संसद में अफरातफरी मच गई थी। धरना और रैली को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने संसद और आसपास के इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। तेलंगाना पर होने वाले प्रदर्शनों को देखते हुए मेट्रो प्रशासन ने आज अपने तीन मेट्रो स्टेशनों को बंद रखने का फैसला किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You