Subscribe Now!

उत्तराखंड का विकास एवं समाजिक सद्भावना मेरे लिए सबसे अहम: हरीश रावत

  • उत्तराखंड का विकास एवं समाजिक सद्भावना मेरे लिए सबसे अहम: हरीश रावत
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-12:44 PM

देहरादून: मेरे दिल में उत्तराखंड के विकास के लिए जो सपने हैं तथा अपने लोगों को विपदा की पीड़ा से उभारना मेरे समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है। मुझे आशा है, कि हम लोगों की आशाओं पर पूरा उतरेंगे। मेरा भरसक प्रयास है कि राज्य में विकास के नई धारा का उदय हो तथा हम गरीब के जख्मों पर मरहम लगा सकें। यह भावनात्मक बातें पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दूरदर्शन उत्तराखंड के देहरादून केन्द्र से प्रसारित एक विशेष कार्यक्रम ‘एक संवाद दिल से’ में प्रकट किये।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने दिल के अनेकों राज तथा राज्य की विकास योजनाओं के बारे में मीडिया विशेषज्ञ एवं लेखक केन्द्र के कार्यक्रम प्रमुख डॉ० के.के. रत्तू के साथ बांटते हुए कहा, कि मेरे मन में राज्य के विकास का सबसे बड़ा सपना है, कि हम पहाड़ में जिन्दगी को आसान बना सकें, क्योंकि अभी भी पहाड़ में जीना कठिन है और पिछले दिनों आई आपदा ने इसमें और भी मुश्किलें पैदा की हैं।

 नदियों पर बने पुल, सड़कें तथा मकान बुरी तरह ध्वस्त हो चुके हैं। वहां तक मूलभूत जीने लायक सुविधायें मुहैया हो सकें, यह मेरी पहली प्राथमिकताओं में एक है। 45 मिनट के इस विशेष कार्यक्रम में अपने दिल के राज खोलते हुए डॉ० रत्तू के एक भावनात्मक प्रश्न पर हरीश रावत ने कहा, कि मुझे आज भी मेरा गांव तथा मेरी मां, आस पड़ोस, गांव, पहाड़ याद आते हैं तथा यह आज भी मेरी ऊर्जा का भी स्त्रोत हैं। गांव में जो भी रिश्तें-नाते हैं वह हमारी समाजिक सौहार्द की परम्परा है। मेरे मन में सपना है कि मैं उन गांवों के लिए कुछ कर सकूं।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You