नहीं बच पाते 29 फीसदी नवजात

  • नहीं बच पाते 29 फीसदी नवजात
You Are HereNational
Wednesday, February 26, 2014-1:43 AM
नई दिल्ली : दुनियाभर में एक साल में दस लाख बच्चों की जन्म के एक दिन के भीतर ही मौत हो जाती है, जिनमें आश्चर्यजनक तरीके से 29 प्रतिशत बच्चे भारत के होते हैं। यह खुलासा मंगलवार को एक जानेमाने एनजीओ ने सेव द चिल्ड्रन मंगलवार को अपनी एक रिपोर्ट में किया।
 
    ‘सेव द चिल्ड्रन’ ने  कहा कि दुनियाभर में अपने जन्म के पहले दिन ही मारे जाने वाले बच्चों का 29 प्रतिशत अकेले भारत में हैं। इस चीज को भारत जैसे देश में हल्के में नहीं लिया जा सकता, जो दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।  
 
हालंाकि रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत ने पिछले दशक में स्वास्थ्य क्षेत्र में अच्छी प्रगति की है लेकिन अब भी कई विसंगतियां हैं। एनजीओ ने कहा कि भारत में पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर 1990 के बाद से आधी से ज्यादा कम हो गयी है।
 
1990 में 1000 जन्म पर 126 बच्चों की मृत्यु हो जाती थी और अब शिशु मृत्युदर 56 पहुंच गयी है। 24 सालों में यह दर आधे से भी कम हो गई है लेकिन अभी भी हालत चिंताजनक है। रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चों की मौत की वजह गर्भावस्था के दौरान मां को पोषणयुक्त भोजन का न मिल पाना है।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You