स्टालिन ने की जयललिता की आलोचना

  • स्टालिन ने की जयललिता की आलोचना
You Are HereNational
Wednesday, February 26, 2014-5:09 PM

धर्मपुरी (तमिलनाडु): द्रमुक के कोषाध्यक्ष एम के स्टालिन ने अन्नाद्रमुक सुप्रीमो और मुख्यमंत्री जे जयललिता पर आज आरोप लगाया कि उन्होंने बेंगलूर की विशेष अदालत में पेश होने से बचने के लिए चुनाव आयोग के अधिसूचना जारी करने से पहले ही लोकसभा चुनावों के उम्मीदवारों की सूची और प्रचार कार्यक्रम की घोषणा कर दी।

स्टालिन ने यहां एक विवाह समारोह में कहा, ‘‘उम्मीदवारों और चुनाव प्रचार कार्यक्रम की घोषणा में इतनी जल्दबाजी यह दिखाती है कि जयललिता ने अदालत के समक्ष पेश होने से बचने के लिए यह किया है, जहां उनके खिलाफ आय के ज्ञात स्रोत से अधिक संपत्ति के मामले की सुनवाई हो रही है।’’

स्टालिन ने गठबंधन की संभावनाओं के संबंध में संकेत दिया कि पार्टी संभवत: अभिनेता से राजनेता बने विजयकांत की डीएमडीके या कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ द्रमुक (नीत गठबंधन) के दरवाजे बंद हो चुके हैं।’’ और मौजूदा गठबंधन चुनावी मैदान में उतरेगा।’’

इस बीच स्टालिन ने अन्य मामलों के अलावा सिरसेरी में 24 वर्षीय तकनीकी विशेषज्ञ की हत्या के मामले पर जयललिता नीत सरकार की आलोचना करते हुए एक माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर टिप्पणी की कि राज्य में ‘‘शांति, विकास, समृद्धि कुछ भी नहीं’’ हुई है। जयललिता ने हाल में कहा था कि उनकी पार्टी ‘शांति, विकास एवं समृद्धि’ के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी। स्टालिन ने स्पष्ट रूप से उनके इसी बयान को निशाना बनाकर यह टिप्पणी की।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You