बंद कमरे में तेजपाल की याचिका पर सुनवाई

  • बंद कमरे में तेजपाल की याचिका पर सुनवाई
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-3:11 PM

पणजी: बंबई उच्च न्यायालय ने तहलका के पूर्व प्रधान संपादक तरुण तेजपाल की जमानत याचिका की बंद कमरे में सुनवाई की एक याचिका को मंजूरी दी है। उच्च न्यायालय की पणजी पीठ में मंगलवार सुबह तेजपाल की जमानत याचिका की सुनवाई शुरू होने के पहले पत्रकारों से सुनवाई कक्ष खाली करने के लिए कहा गया।

तेजपाल महिला सहकर्मी के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में 30 नवंबर से हिरासत में है। इस सुनवाई में बचाव पक्ष के वकील तेजपाल के लिए जमानत की मांग करेंगे, वहीं अभियोजन पक्ष के वकील याचिका का विरोध करते हुए तेजपाल के खिलाफ दर्ज नए मामले की जानकारी देंगे। तेजपाल की गिरफ्तारी के बाद उन पर कारावास में अपने पास मोबाइल रखने और जांच के दौरान महिला पुलिस अधिकारी को डराने के आरोप लगे हैं।

न्यायालय ने 18 फरवरी को तेजपाल की जमानत याचिका पर सुनवाई को स्थगित कर दिया था। न्यायालय ने एक दिन पहले अपराध शाखा द्वारा दाखिल किए गए आरोप पत्र की प्रति मांगी थी।

तेजपाल की सुनवाई के दौरान न्यायालय में मौजूद रहने की संभावना है।
त्वरित जांच के बाद गोवा पुलिस की अपराध शाखा ने तेजपाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 354-ए (यौन उत्पीडऩ), 341 और 342 (गलत रूप से रोकने), 376 (दुष्कर्म), 376(2)(एफ) और 376(2)(के) (पद का दुरुपयोग करते हुए संरक्षण में दुष्कर्म करना) के तहत मामला दर्ज किया था।

तेजपाल 30 नवंबर को हुई गिरफ्तारी के बाद से न्यायिक और पुलिस हिरासत में 80 दिन बिता चुके हैं। तहलका के संस्थापक पर उनकी महिला सहकर्मी ने थिंकफेस्ट महोत्सव के दौरान दुष्कर्म का आरोप लगाया है। तेजपाल फिलहाल गोवा के वास्को स्थित साडा कारावास में कैद हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You