गली-गली घूम रहे अग्रवाल

  • गली-गली घूम रहे अग्रवाल
You Are HereNational
Sunday, March 30, 2014-12:56 PM
नई दिल्ली (सज्जन चौधरी): नमस्कार बाऊजी, नमस्कार भाई, नमस्कार माताजी। कांग्रेस को वोट देना, विकास को वोट देना। हाथ के निशान पर बटन दबाना भूल न जाना। गाड़ी से उतरते ही उत्तर पूर्वी दिल्ली के कांग्रेस प्रत्याशी जय प्रकाश अग्रवाल के दोनों हाथ नमस्कार की मुद्रा में जुड़ जाते हैं। फिर यह सिलसिला चलता ही रहता है।
 
कोई ज्यादा बुजुर्ग दिख गया तो उसके पैर छूकर आर्शीवाद ले लिया। कहीं किसी को गले लगा लिया तो कहीं हाथ मिलाकर गर्मजोशी से वोट मांगा। गोकुलपुरी व बाबरपुर विधानसभा क्षेत्र में संकरी गलियों में पैदल घूमकर जयप्रकाश ने घंटों तक प्रचार किया। अपने इस प्रचार में वह अपनी सादगी व परिचित मुस्कान के जरिए लोगों के दिलों में छाप छोड़ गए। 
 
गोकुलपुरी में सुबह 10 बजे उनके आने की खबर से कार्यकत्र्ता पहले से ही जमा हो गए थे। सब उनके आने का पल-पल इंतजार कर रहे थे। कुछ नेता बार-बार फोन लगाकर पता कर रहे थे कि नेताजी कहां पहुंचे, कब आएंगे। जैसे ही जे.पी. अग्रवाल पहुंचे तो लोगों ने कांग्रेस जिंदाबाद के नारों से उनका स्वागत किया। पूर्वांचली व मुस्लिम वोट जे.पी. के हाथ से न खिसक जाए, इसके लिए जे.पी. अग्रवाल ने इन वोटरों के बीच संपर्क बढ़ा दिया है। चलती गाड़ी में अपना खाना खाते हैं और चलती गाड़ी में ही नींद की झपकी ले लते हैं।
 
जे.पी. अग्रवाल ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के गोकुलपुर क्षेत्र से प्रचार अभियान की शुरूआत की। वह कार्यकत्र्ताओं के साथ पैदल ही क्षेत्र की गलियों में घूमते रहे। प्रचार के दौरान लोग क्षेत्र की समस्याओं को गिनाने से भी नहीं चुके। प्रचार के दौरान जे.पी. ने दर्जनभर से अधिक सभाओं को संबोधित किया और विकास के नाम पर वोट की अपील की। जे.पी. दोपहर बाद बाबरपुर पहुंचे। वहां भी उन्होंने घंटों पैदल यात्रा की और दर्जनभर नुक्कड़ सभाओं में लोगों को संबोधित किया। 
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You