मोदी ने महात्मा गांधी के आदर्शों को क्यों नहीं अपनाया: वीरभद्र

  • मोदी ने महात्मा गांधी के आदर्शों को क्यों नहीं अपनाया: वीरभद्र
You Are HereNational
Saturday, April 05, 2014-5:34 PM

शिमला: शिमला संसदीय क्षेत्र के जुब्बल कोटखाई क्षेत्र के पुजारली, टिक्कर, दयोली, बागी में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने भारतीय लोकतंत्र में भाजपा के चुनाव प्रचार को देश के लिए घातक बताया। उन्होंने कहा कि अपने चुनाव प्रचार में मोदी हजारों करोड़ रुपए खर्च कर रहे हैं। उनके पास यह पैसा कहां आ रहा है, इसकी जांच चुनाव आयोग को करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वह अपने राजनीतिक अनुभव से कह सकते हैं कि भाजपा का चुनाव प्रचार देश के भविष्य के लिए खतरा साबित हो सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेद्र मोदी को आज कांग्रेस के नेता सरदार पटेल बहुत याद आ रहे हैं और वह उन्हें अपना बताने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सहीं है सरदार पटेल गुजरात से संबंध रखते थे।

मुख्यमंत्री ने मोदी से पूछा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी गुजरात से संबंध रखते थे तो मोदी ने उनके आदर्शों को क्यों नहीं अपनाया। उन्होंने कहा कि मोदी गुजरात दंगों के दोषी हैं, जिसमें हजारों अल्पसंख्यकों की निर्मम हत्या हुई थी। मुख्यमंत्री ने चुटकी ली कि मोदी का कोई ऐसा बड़ा राजनीतिक अनुभव नहीं है जिसके लिए वह प्रधानमंत्री पद का बड़े जोर-शोर से दावा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे मात्र तीन बार ही गुजरात के मुख्यमंत्री बने हैं जबकि वे स्वयं प्रदेष के 6 मुख्यमंत्री बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश का प्रधानमंत्री वहीं बन सकता है जो धर्म निरपेक्षता से सराबोर हो, देश के सभी लोगों को साथ लेकर चलने की क्षमता रखता हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग उस पर विश्वास कर सकें और वह सभी धर्मों का आदर करता हो।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You