'उरी के बयान पर आजाद के माफी मांगने का सवाल ही नही'

  • 'उरी के बयान पर आजाद के माफी मांगने का सवाल ही नही'
You Are HereNational
Friday, November 18, 2016-1:43 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी की राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद से नोटबंदी की तुलना उरी हमले से करने लिए माफी मांगने की मांग को नकार दिया और कहा कि सरकार को नोटबंदी के कारण अब तक गई जानों के लिए माफी मांगनी चाहिए। 

 

आजाद ने उरी हमले से जुड़े बयान पर माफी मांगने की भाजपा की मांग को सिरे से खारिज करते हुए संसद परिसर में कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह और राज्यसभा में पार्टी के उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि उनके माफी मांगने का कोई सवाल ही नही है। अलबत्ता मोदी सरकार को नोटबंदी के कारण जनता को रही परेशानियों के लिए माफी मांगनी चाहिए। दिग्विजय और शर्मा ने कहा कि आजाद एक सम्मानित नेता हैं और जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उन पर आतंकवादियों ने कई जानलेवा हमले किये हैं। उनकी देशभक्ति पर सवाल उठाना शर्म की बात है। 

 

शर्मा ने कहा कि नोटबंदी के मुद्दे पर बुरी तरह से घिर गई सरकार को बचाने के लिये भाजपा आजाद के बयान को तोड मरोड कर पेश कर रही है। आजाद ने सिर्फ तथ्यों को सामने रखा और कहा कि उरी के आतंकवादी हमले में 18 जवान मारे गये और नोटबंदी के कारण देशभर में अबतक 47 लोगों की जानें जा चुकी हैं। भाजपा को आरोप लगाने के बजाय आजाद से माफी मांगनी चाहिए।  सिंह ने कहा कि आजाद के बयान पर राजनीति करने के बजाय सरकार की ओर से यह बताया जाना चाहिए कि नए नोटों की कमी कब दूर होगी और सारे एटीएम कबतक काम करना शुरू कर देंगे जिससे जनता की परेशानी दूर होग।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You