कचरे में मिली 3 दिन की मासूम बच्ची, बैग के इर्द गिर्द घूम रहे थे कुत्ते

  • कचरे में मिली 3 दिन की मासूम बच्ची, बैग के इर्द गिर्द घूम रहे थे कुत्ते
You Are HereNational
Tuesday, November 22, 2016-5:43 PM

अहमदाबादः गुजरात के वस्त्रपुर इलाके में पंचामृत सोसायटी के बाहर महज 3 दिन की एक नवजात बच्ची लावारिस हालत में मिली है। यह बच्ची एक लैपटॉप बैग के अंदर बंद थी। जॉन्डिस से पीड़ित यह बच्ची सोला के सिविल अस्पताल में भर्ती है, जहां डॉक्टर उसका इलाज कर रहे हैं।

लैपटॉप बैग में मिली बच्ची
जानकारी के मुताबिक, जब एक नौकरानी पंचामृत सोसायटी के बाहर निकली तो उसकी नजर सड़क पर पड़े लावारिस हालत में पड़े एक लैपटॉप बैग पर पड़ी जो बहुत मोटा दिख रहा था। उसने देखा कि कुछ कुत्ते बैग के इर्द गिर्द घूम रहे हैं। नौकरानी ने सोचा कि उसके अंदर 500-1000 के पुराने नोट भरे होंगे। लेकिन जब उसने बैग खोला तो अंदर एक नवजात बच्ची मिली जो छटपटा रही थी। नौकरानी ने तुरंत स्थानीय लोगों और पुलिस को इसकी सूचना दी, जिसके बाद बच्ची काे 108 इमरजेंसी सर्विस के अधिकारियों को सौंप दिया गया। बच्ची को सोला सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मासूम को सड़क पर छाेड़ा
बच्ची के पहनावे को देखकर ऐसा लग रहा है कि जैसे वह एक संपन्न परिवार से है। बच्ची काे देखने वाली महिला का कहना है कि वह वन पीस ड्रेस में थी, सिर पर टोपी और ठंड से बचाने के लिए नारंगी रंग का स्वेटर भी पहनाया गया था। साथ ही बच्ची ने डायपर भी पहन रखा था। यह सारी बातें इस ओर इशारा कर रही हैं कि बच्ची किसी संपन्न परिवार की है। उसका कहना है कि कैसे लोग इतनी मासूम बच्ची को सड़क पर छोड़ सकते हैं। मैं प्रार्थना करती हूं कि उसकी अच्छी तरह से देखभाल हो।

2-3 दिन पहले ही हुआ जन्म
सुरेखा ने कहा कि बच्ची बिलकुल चुप थी। रो नहीं रही थी। ऐसा लगता है कि जिसने भी उसे लावारिस हालत में छोड़ा, ऐसा करने से पहले उसने उसे दूध पिला दिया था।सोला सिविल अस्पताल की डॉक्टर नेहा पटेल ने बताया कि बच्ची के पैरों पर स्याही का निशान भी है, जाे इस ओर इशारा करता हैं कि बच्ची का जन्म 2-3 दिन पहले ही हुआ होगा और वह भी किसी अच्छे अस्पताल में। बच्ची स्वस्थ है और उसका वजह 2.50 किलो है। 

बच्ची के अपहरण की आशंका
पुलिस इंस्पेक्टर के एन रामानुज का कहना है कि वह पिछले कुछ दिनों में जितने भी बच्चे पैदा हुए हैं उनके बारे में शहर के सभी अस्पतालों से जानकारी इक्ट्ठा करेंगे। साथ ही जहां से बच्ची बरामद की गई उस इलाके की सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जाएगी ताकि बच्ची को वहां लावारिस छोड़ने वाले के बारे में जानकारी जुटायी जा सके। ऐसा भी हो सकता है कि किसी ने बच्ची के मां-बाप की जानकारी के बिना बच्ची का अपहरण कर उसे वहां छोड़ दिया हो।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You