लाखों की लागत से बना जे.बी.टी. हॉस्टल बदहाल

  • लाखों की लागत से बना जे.बी.टी. हॉस्टल बदहाल
You Are HereChandigarh
Sunday, November 20, 2016-10:13 AM

मोरनी(अनिल) : मोरनी खंड के दर्जन भर सरकारी कार्यालय अपना भवन ना होने के कारण वर्षो से किराए पर चल रहे हैं। अधिकतर कार्यालय तो ऐसे हैं जहां अधिकारियों की चैकिंग नाम ही होती है। चैकिंग टीम को पता भी नहीं चलता कि कौन-सा कार्यालय कहां है। यहां सरकार ने जनता की सुविधाओं के लिए कार्यालय तो खोल दिए मगर उनमें न तो बैठने की व्यवस्था है और न ही पानी की, जिस कारण यहां दूर-दराज से आने वाले लोगों को अपने कार्यों के लिए घंटों खड़े रहना पड़ता है। सरकारी जमीन के अभाव में दर्जनों कार्यालय किराए पर चल रहे हैं। 

 

वहीं सरकार द्वारा लाखों रुपए खर्च कर मोरनी में हरियाणा के सभी जिलों से शिक्षा ग्रहण करने आने वाली छात्राओं के लिए जे.बी.टी. छात्रावास का निर्माण करवाया था जो धीरे-धीरे खंडहर बनता जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि इस छात्रावास का उद्घाटन ओमप्रकाश चौटाला सरकार के शासन काल में सन 2001 में हुआ था। इस भवन में शिवालिक विकास अभिकरण के माध्यम से महज एक कम्प्यूटर सैंटर ही चलाया जा रहा है, बाकी का तीन मंजिला भवन खाली पड़ा है। अगर सरकार इन सरकारी कार्यालयों को इस छात्रावास के भवन में शिफ्ट कर दे तो सारे कार्यालय एक ही भवन में आ जाएंगे जहां लोगों को एक छत के नीचे सारी सुविधाएं मिल जाएंगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You