मेजर ने शहादत से पहले पत्नी को भेजा था एनिवर्सरी गिफ्ट!

  • मेजर ने शहादत से पहले पत्नी को भेजा था एनिवर्सरी गिफ्ट!
You Are HereNational
Friday, February 17, 2017-4:14 PM

नई दिल्लीः कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों से एनकाउंटर के दौरान 14 फरवरी को शहीद हुए मेजर सतीश दहिया ने पत्नी को शादी की सालगिरह पर तोहफा भेजा था। इसे इत्तेफाक ही कहेंगे कि मेजर की पत्नी सुजाता को यह तोहफा पति की शहादत से महज 4 घंटे पहले मिला था। दोपहर 3 बजे सुजाता को पार्सल मिला और शाम 7 बजे सतीश शहीद हुए। परिवार को रात 9 बजे इसकी खबर मिली। शहीद मेजर की पत्नी के मुताबिक, वेलेंटाइन्स डे के दिन उन्हें दोपहर 3 बजे एक पार्सल मिला था। वे उस दौरान जयपुर में थीं। पार्सल सतीश ने भेजा था। पार्सल खोला तो उसमें बेटी के लिए कपड़े, उनकी एनिवर्सरी के लिए केक, कैंडल, एक ग्रीटिंग कार्ड और गोवा की दो टिकट थीं। गोवा की टिकट उनकी छठी मैरिज एनिवर्सरी के दिन यानी 17 फरवरी को बुक थी। 

इस पार्सल के खोलने के बाद सुजाता की सतीश से बात भी हुई थी। मेजर सतीश पत्नी सुजाता से कहा करते थे कि वे एक दिन राष्ट्रपति मेडल जरूर लेंगे। शहीद मेजर सतीश दहिया नारनौल जिले के बनिहाड़ी गांव के रहने वाले थे। 2008 में उन्होंने एनडीए एग्जाम पास की। 2 साल की ट्रेनिंग करने के बाद उन्होंने जम्मू में बतौर लेफ्टिनेंट ज्वाइन किया। 17 फरवरी 2011 को वे निजामपुर के नजदीक पवेरा गांव में सुजाता चौधरी के साथ शादी हुई। 2012 में सतीश को प्रमोशन मिला। पिछले डेढ़ साल से जम्मू के हंदवाड़ा में तैनात थे। 14 फरवरी को बॉर्डर से करीब 20 किलोमीटर अंदर हंदवाड़ा में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। मेजर सतीश दहिया ने 4:30 बजे अपनी पत्नी सुजाता चौधरी से बात की और करीब 4:45 बजे पिता अचल दहिया से बात कर कहा- पापा, रिहाइशी इलाके में आंतकी घुस गए, सर्च मिशन में जुटा हुआ हूं। कामयाब होने पर मैं दोबारा कॉल करुंगा, आप मत करना। इसके बाद सर्च मिशन में आतंकियों की तरफ से फायरिंग के दौरान मेजर सतीश दहिया के सीने में गोली लगी। इससे वे बुरी तरह घायल हो गए। उन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन ज्यादा खून बह जाने के चलते वे शाम करीब 7 बजे शहीद हो गए।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You