जांच में निर्दोष पाए जाने तक कश्मीरी छात्रों को प्रवेश नहीं

  • जांच में निर्दोष पाए जाने तक कश्मीरी छात्रों को प्रवेश नहीं
You Are HereNational
Monday, March 10, 2014-5:14 PM

मेरठ: सुभारती विश्वविद्यालय ने निलंबित कश्मीरी छात्रों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है और जांच में निर्दोष पाए जाने पर ही उन्हें फिर से विश्वविद्यालय में प्रवेश देने के बारे में निर्णय किया जाएगा।
 
विश्वविद्यालय के कुलपति मंजूर अहमद ने आज कहा कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद विश्वविद्यालय प्रबन्धन आरोपी कश्मीरी छात्रों के पुन: प्रवेश पर कोई निर्णय लेगा।
 
उन्होंने उन खबरों का खंडन किया है जिसमें कहा गया है कि पाक जिन्दाबाद के नारे लगाने के आरोपी छात्रों को विवि उसी सूरत में दोबारा प्रवेश देगा जब वह और उनके अभिभावक माफीनामा शपथ पत्र के रुप में देंगे।

मंजूर अहमद ने उन खबरों को भी गलत बताया जिसमें कहा गया है कि विवि प्रशासन द्वारा घटना की जांच के लिए गठित कमेटी हॉस्टल के सभी छात्रों के बयान के बाद कश्मीर जाकर निलंबित छात्रों के बयान दर्ज करेगी।
 
सोमवार को पत्रकारों के साथ बातचीत में मंजूर अहमद ने कहा कि विवि प्रशासन द्वारा गठित जांच कमेटी ने अपनी जांच शुरु कर दी है। उन्होंने कहा कि निलंबित छात्रों के बयान दिल्ली या यहां दर्ज किये जा सकते हैं। लेकिन निलंबित छात्रों के बयान दर्ज करने के लिए जांच कमेटी के कश्मीर जाने का कोई सवाल ही पैदा नही होता है।

मंजूर अहमद ने कहा कि निलंबित छात्रों को दोबारा प्रवेश तब तक नही दिया जाएगा जब तक कि वह जांच में निर्दोष साबित नही होते हैं। जांच में निर्दोष साबित होने के बाद भी दोबारा प्रवेश उसी सूरत में दिया जाएगा जब संबंधित छात्र और उनके अभिभावक अलग-अलग इस आशय का शपथ पत्र देंगे कि भविष्य में इस प्रकार से कोई गलती नही करेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You