तीनों प्रारूपों में कप्तान बने रहना चाहते हैं धोनी

  • तीनों प्रारूपों में कप्तान बने रहना चाहते हैं धोनी
You Are HereSports
Monday, January 06, 2014-8:51 PM

नई दिल्ली: महेंद्र सिंह धोनी अभी क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारतीय टीम का कप्तान बने रहना चाहते हें क्योंकि उनका मानना है कि जब एक साल बाद विश्व कप होना है तब किसी नये खिलाड़ी पर कप्तानी का बोझ डालना सही नहीं होगा। धोनी ने कहा, ‘‘अब जबकि विश्व कप लगभग एक साल बाद होना तब मुझे नहीं लगता कि यह सही होगा। इससे नये खिलाड़ी को पर्याप्त मौका नहीं मिलेगा। किसी भी खिलाड़ी को विश्व कप शुरू होने से पहले 70 या 80 या 90 मैचों का अनुभव होना जरूरी है।’’

उन्होंने यहां प्रचार कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘मैं दबाव समझता हूं। इसके अलावा आप ऐसे हालात से गुजरते हो जो आपको अन्य से अधिक अनुभवी बनाते हैं। इसलिए हमें आगे गुजरना होगा।’’ भारत की विश्व कप विजेता टीम के कप्तान धोनी से पूछा गया कि क्या अपना करियर लंबा खींचने के लिये वह एक प्रारूप की कप्तानी छोडऩे पर विचार कर रहे हैं।

धोनी ने पिछले साल कहा था कि वह विश्व कप 2015 से पहले एक प्रारूप की कप्तानी छोड़ सकते हैं लेकिन इस तरह का फैसला 2013 के आखिर तक ही किया जाएगा। धोनी आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में होने वाले विश्व कप तक 33 साल के हो जाएंगे। कप्तान ने कहा कि वह अधिक फिट और स्वस्थ महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम आजकल जितनी क्रिकेट खेल रहे हैं उसे देखते हुए मैं अभी जिस स्थिति में हूं उससे बहुत खुश हूं। अभी सब कुछ अच्छा लग रहा है। अभी काफी फिट और स्वस्थ हूं। भविष्य में क्या होगा मैं नहीं जानता लेकिन अभी सब कुछ अच्छा है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You