11वीं बार फाइनल में फेडरर, खिताबी टक्कर सिलिच से

  • 11वीं बार फाइनल में फेडरर, खिताबी टक्कर सिलिच से
You Are HereSports
Saturday, July 15, 2017-12:17 AM

लंदन: ग्रास कोर्ट के बेताज बादशाह स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चेक गणराज्य के टॉमस बेर्दिच को शुक्रवार को 7-6 7-6 6-4 से हराकर 11वीं बार विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप के पुरुष एकल के फाइनल में प्रवेश कर लिया।   सात बार के चैंपियन फेडरर अब अपना आठवां विंबलडन और 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने से एक कदम दूर रह गए हैं।

उन्हें अब क्रोएशिया के मारिन सिलिच की चुनौती पर काबू पाना होगा जिन्होंने पहले सेमीफाइनल में  पहला सेट हारने के बाद शानदार वापसी करते हुए अमेरिका के सैम क्वेरी को 6-7 6-4 7-6 7-5 से हराकर पहली बार विंबलडन चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में जगह बनाई। फेडरर ने बेर्दिच को हराने में दो घंटे 18 मिनट का समय लगाया।फेडरर ने पहले दो सेट के टाई ब्रेक 7-4 7-4 से जीते। उन्होंने तीसरा सेट 6-4 से जीतकर मुकाबला लगातार सेटों में समाप्त कर दिया और 11वीं बार फाइनल में पहुंच गए। फेडरर का सिलिच के खिलाफ 6-1 का करियर रिकार्ड है। 35 वर्षीय फेडरर फाइनल में पहुंचने के साथ ही ओपन युग में विंबलडन के दूसरे सबसे उम्रदराज फाइनलिस्ट बन गए।

इससे पहले सातवीं सीड सिलिच ने 24 वीं सीड क्वेरी के खतरनाक अभियान को सेमीफाइनल में थाम लिया। क्वेरी ने क्वार्टर फाइनल में विश्व के नंबर एक खिलाड़ी और गत चैंपियन ब्रिटेन के एंडी मरे को पांच सेटों में हराकर 42 प्रयासों में पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। क्वेरी ने सेमीफाइनल में शानदार शुरुआत की और पहले सेट का टाई ब्रेक 8-6 से जीत किया लेकिन क्रोएशियाई खिलाड़ी ने फिर जोरदार वापसी की और दूसरा सेट 6-4 से जीत लिया। उन्होंने तीसरे सेट का टाई ब्रेक 7-3 से जीता। सिलिच ने चौथे सेट के 12 वें गेम में निर्णायक ब्रेक हासिल किया और मैच दो घंटे 56 मिनट में समाप्त कर फाइनल में जगह बना ली।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You