भारतीय फुटबाल को अब पीछे नहीं मुडऩा चाहिए : छेत्री

  • भारतीय फुटबाल को अब पीछे नहीं मुडऩा चाहिए : छेत्री
You Are HereOther Games
Saturday, November 05, 2016-8:45 AM

नई दिल्ली : बेंगलूरू एफसी के एएफसी कप फाइनल में खेलने की विशिष्ट उपलब्धि से उत्साहित करिश्माई स्ट्राइकर सुनील छेत्री ने आज कहा कि अब भारतीय फुटबाल को पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए। उन्होंने इसके साथ ही देशवासियों से एक और इतिहास रचने के लिए क्लब का समर्थन करने की भी अपील की।  

बेंगलुरू एफसी इस महाद्वीपीय टूर्नामैंट के फाइनल में पहुंचने वाला पहला भारतीय क्लब है। उसने मौजूदा चैंपियन जोहोर दारूल ताजिम को पिछले महीने 4-2 के कुल स्कोर से पराजित करके यह उपलब्धि हासिल की।  वह कल दोहा में होने वाले फाइनल में इराक के एयरफोर्स क्लब से भिड़ेगा। छेत्री ने आज कहा कि फाइनल मेरे क्लब करियर का सबसे बड़ा मैच है और इसमें कोई संदेह नहीं। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह भारतीय फुटबाल के लिये काफी मायने रखता है। क्लब और देश ने एशियाई फुटबाल का ध्यान खींचा है और यहां से अब पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए।

भारत की तरफ से 91 मैचों में सर्वाधिक 51 गोल करने वाले छेत्री अच्छा प्रदर्शन करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।  उन्होंने कहा कि हमने फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय टीम बनकर इतिहास रच दिया है और एक दिन बाद हमारे पास एक कदम और आगे बढ़ाने का मौका होगा। परिणाम जो भी रहे यह बहुत बड़ा अवसर और उपपब्धि है जिससे देश को प्रेरित होना चाहिए।इस 32 वर्षीय स्ट्राइकर ने देशवासियों से टीम का समर्थन करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि यह देखना शानदार रहा कि पूरे देश ने फाइनल तक की हमारी राह में हमारा समर्थन किया और उम्मीद है कि यह आगे भी बना रहेगा। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You