अब अटैक-बम जैसे शब्‍द लिखने से करें तौबा, नहीं तो ...

  • अब अटैक-बम जैसे शब्‍द लिखने से करें तौबा, नहीं तो ...
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-12:44 PM

नई दिल्‍ली: सरकार जल्‍द ही इंटरनेट खुफिया प्रणाली नेत्र शुरू करने वाली है, जिसके तहत अगर आप हिंसा युक्त कोई भी ऐसा शब्द लिखते है, तो आप मुसीबत में पड़ सकते है। जी हां, इस सिस्‍टम को केंद्रीय गृह मंत्रालय भी फाइनल करने में लगा हुआ है और सभी सुरक्षा एजेंसियां भी इसे लागू करेंगी। इस प्रणाली के तहत यदि आप ट्वीट, मेल, ब्‍लॉग स्‍काइप, गूगल टॉक में अटैक, बम, ब्‍लास्‍ट और किल जैसे शब्‍द लिखते हैं तो इन शब्दो को पकड़ा जा सकें। ऐसे शब्‍द लिखने के बाद आप पर सुरक्षा एजेंसियों की नजर टिक सकती है।

कैबिनेट सचिवालय, गृह मंत्रालय, डीआरडीओ, खुपिफया ब्‍यूरो, सी-डॉट और सीईआरटी-इन ने हाल में इस निगरानी प्रणाली को विकसित करने की रणनीति बनाई है। गृह मंत्रालय के मुताबिक, इस सिस्‍टम के लागू हो जाने के बाद सुरक्षा एजेंसियों को संदिग्‍ध लोगों और संदिग्‍ध संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखने में मदद मिलेगी। नेत्र निगरानी तंत्र को बनाने का जिम्‍मा डीरआरडीओ (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन) की लैब सेंटर फॉर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड रोबोटिक्‍स को दिया गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You