कंैडीडेट की जगह फिजिकल टैस्ट देने आए तीन युवक गिरफ्तार

Edited By Ajay Chandigarh,Updated: 21 May, 2022 08:55 PM

the accused refused to sign

नगर निगम की फायरमैन की भर्ती में सैक्टर-26 स्थित पुलिस लाइन में तीन कैंडीडेट की जगह फिजिकल टैस्ट देने आए तीन युवकों को भर्ती स्टाफ ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान कैथल निवासी विजय कुमार, हिसार निवासी विकास और झझर निवासी...

चंडीगढ़,(सुशील राज):नगर निगम की फायरमैन की भर्ती में सैक्टर-26 स्थित पुलिस लाइन में तीन कैंडीडेट की जगह फिजिकल टैस्ट देने आए तीन युवकों को भर्ती स्टाफ ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान कैथल निवासी विजय कुमार, हिसार निवासी विकास और झझर निवासी विनित के रूप में हुई। पकड़े गए आरोपियों की फोटो पंजाब यूनिवर्सिटी द्वारा जारी एडमिट कार्ड पर लगी फोटो से मेल नहीं खा रही थी। भर्ती स्टाफ जब पकड़े गए आरोपियों से साइन करवाकर एडमिट कार्ड से हस्ताक्षरों के मेल करवाने लगा तो उन्होंने साइन करने से इंकार कर दिया। जांच में सामने आया कि पकड़ा गया आरोपी विजय कुमार विक्रम सिंह का, हिसार निवासी विकास अमन का और झझर निवासी विनित आनंद की जगह फिजिकल टैस्ट देने आया था। सैक्टर 26 थाना पुलिस ने तीनों आरोपियों और तीनों कैंडीडेट के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। पुलिस तीनों आरोपियों की निशानदेही पर कैंडीडेट विक्रम सिंह, अमन और आंनद को पकडऩे में लगी हुई है। 

 

 

नगर निगम की ओर से सैक्टर-26 पुलिस लाइन में फायरमैन की भर्ती के लिए फिजिकल टैस्ट लिया जा रहा है। शनिवार को फिजिकल टैस्ट देने युवक पहुंचे थे। फिजिकल टैस्ट देने के लिए तीन युवक विक्रम सिंह, अमन और आनंद पुलिस लाइन पहुंचे। फिजिकल टैस्ट से पहले तीनों का एडमिट कार्ड भर्ती स्टाफ देखने लगा। तीनों की फोटो पी.यू. से जारी एडमिट कार्ड से मेल नहीं खाती पाई गई। भर्ती स्टाफ ने तुरंत तीनों युवकों को साइड में बैठाकर मामले की जानकारी सीनियर अधिकारियों को दी। सीनियर अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर पकड़े गए तीनों युवकों से पूछताछ कर उनके कागजात चेक किए तो तीनों की फोटो अलग पाई गई। कैंडीडैट को वेरीफाई करने के लिए अधिकारियों ने पकड़े गए तीनों युवकों से साइन करने के लिए कहा, ताकि एडमिट कार्ड पर हुए साइन से मिलान किया जा सके, लेकिन तीनों कैंडीडेट ने साइन करने से इंकार कर दिया। स्टाफ ने पकड़े गए तीनों युवकों से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने खुद की पहचान विजय, विकास और विनित के रूप में बताई। उन्होंने कहा कि वे अपने जानकार का फिजिकल टैस्ट देने आए हैं। 

 


कहीं पैसे लेकर देने तो नहीं आए थे फिजिकल टैस्ट
फायरमैन की भर्ती मेें दूसरों की जगह फिजिकल टैस्ट देने आए पकड़े गए तीनों युवक कहीं पैसे लेकर टैस्ट देने तो नहीं आए थे। इस बारे में पुलिस जल्द ही असल कैंडीडेट विक्रम सिंह, अमन और आंनद को गिरफ्तार कर पूछेगी। इससे पहले भी कई गिरोह भर्तियों में पैसे लेकर फिजिकल और रिटर्न टैस्ट देते हुए पकड़े जा चुके है। सी.बी.आई. ने कुछ साल पहले सी.टी.यू. में बस कंडक्टर की लिखित परीक्षा में दूसरों की जगह परीक्षा देने वाले गिरोह का पकड़ा था। पुलिस पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर बड़ा खुलासा कर सकती है। 

 


फिजिकल टैस्ट में फेल हुए 20 कैंडीडेट को अगले दिया दोबारा चंास, हंगामा 
फिजिकल टैस्ट के पहले दिन 18 मई को करीब 20 कैंडीडेट फेल हो गए थे। सूत्रों से पता चला कि अफसरों ने अगले दिन फिजिकल टैस्ट में फेल हुए 20 कैंडीडेट को दोबारा मौका दिया। जिसके बाद अगले दिन आए कैंडीडेट ने हंगामा किया। अगले दिन फेल हुए कैंडीडेट ने भी दोबारा फिजिकल टैस्ट लेने की मांग की थी, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। 

 


लिखित परीक्षा में गड़बड़ी को लेकर विजीलैंस और सी.बी.आई. में हो रखी है शिकायत 
नगर निगम में फायरमैन की 301 पोस्ट को लेकर हुई लिखित परीक्षा में भी गड़बड़ी हो चुकी है। जिसकी शिकायत सी.बी.आई. और विजीलैंस को की गई है। विजीलैंस को दी शिकायत में सैक्टर-43 निवासी नवीन कुमार ने बताया कि लिखित परीक्षा में पंजाब यूनिवर्सिटी द्वारा जारी प्रश्न पत्र बिना सील के ही सैंटर और कैंडीडेट का दिया गया था। छात्रों को दिया गया पेपर सील नहीं दिया था, उसके ऊपर सिर्फ लोहे की पिन लगी हुई थी। प्रश्न पत्र को कोई भी देखकर पेपर को आसानी से लीक कर सकता था। परीक्षा केंद्र में आने वाले कैंडीडेट की सही तरीके से कोई चैकिंग के इंतजाम नहीं किए हुए थे। सभी एग्जाम सैंटर पर मोबाइल फोन, ब्लूटूथ समेत अन्य इलैक्ट्रिोनिक सामान अंदर लाने की इजाजत दी गई थी। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!