पाकिस्तान में 1000 चीनी नागरिकों को सता रहा मौत का डर, हर मूवमेंट की पुलिस को देनी होगी खबर

Edited By Tanuja, Updated: 18 Jun, 2022 12:52 PM

chinese living in pak asked to inform police about their movement report

चीन  पाकिस्तान के साथ प्रगाढ़ रिश्तों के बावजूद भी है कि पाकिस्तान में रह रहे अपने नागरियों की हत्याओं को लेकर चिंतित है। पाक में बढ़ते हमलों...

इस्लामाबादः चीन पाकिस्तान के साथ प्रगाढ़ रिश्तों के बावजूद भी है कि पाकिस्तान में रह रहे अपने नागरियों की हत्याओं को लेकर चिंतित है। पाक में बढ़ते हमलों के चलते चीनी लोगों को मौत का खौफ सता रहा है। हालांकि पाकिस्तान सरकार ने चीनी नागरिकों की सुरक्षा के कई  इंतजाम किए हैं। साथ ही चीनी लोगों से अपने  हर मूवमेंट की खबर पुलिस को देने की हिदायत दी गई है। 

 

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में करीब 1 हजार चीनी नागरिक रहते हैं। उनकी कॉलनियों में CCTV कैमरे लगाए गए हैं। इसके साथ ही हथियारों से लैस जवानों को भी सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। अब चीनी नागरिकों से कहा गया है कि वे कहीं आने-जाने से पहले इसकी सूचना स्थानीय पुलिस अधिकारी को दें ताकि यात्रा के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। पाकिस्तान की मीडिया के अनुसार यह फैसला चीनी नागरिकों पर बढ़ते हमले को देखते हुए लिया गया है। 
 इस्लामाबाद पुलिस ने विदेशी नागरिकों की सुरक्षा के लिए हाल ही में जिला विदेशी सुरक्षा सेल का गठन किया है।

 

विदेशी सुरक्षा सेल की रिव्यू मीटिंग के दौरान यह फैसला लिया गया कि चीनी नागरिक अपने मूवमेंट की पहले से सूचना पुलिस को देंगे। इस्लामाबाद में चीन की मदद से चल रहे तीन दर्जन से अधिक प्रोजेक्ट्स और चीनी कंपनियों से जुड़े 1 हजार से अधिक चीनी नागरिक रहते हैं। इसके साथ ही इनमें चीनी कारोबारी भी शामिल हैं। चीन पाकिस्तान में चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर के तहत अरबों डॉलर की लागत से निर्माण कार्य करा रहा है। इन प्रोजेक्ट्स में काम कर रहे चीनी नागरिकों को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों द्वारा सुरक्षा दी जा रही है। 

 

अधिकारियों ने कहा कि बैठक में यह निर्णय लिया गया कि चीनी नागरिक अपनी यात्रा के बारे में एसएचओ को जानकारी देंगे। इसके बाद उन्हें यात्रा के दौरान पुलिस द्वारा सुरक्षा दी जाएगी। एसएचओ चीनी नागरिकों के घरों के आसपास गश्त करने वाले जवानों की तैनाती सुनिश्चित करेंगे। चीनी नागरिकों के घरों के साथ-साथ उनके घरों की ओर जाने वाली सड़कों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

 

अधिकारी ने कहा कि DIG ऑपरेशंस को उन रिहायशी इलाकों का दौरा करने के लिए कहा गया था जहां चीनी रह रहे हैं। उन्हें सुरक्षा में खामियों को दूर करने के लिए एक सुरक्षा ऑडिट रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा गया था। बता दें कि पाकिस्तान में चीनी नागरिकों पर कई हमले हुए हैं। इसी साल 26 अप्रैल को कराची विश्वविद्यालय में कन्फ्यूशियस संस्थान की वैन पर बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (बीएलए) की एक बुर्का पहने महिला आत्मघाती हमलावर ने हमला किया था। हमले में तीन चीनी शिक्षकों की मौत हो गई थी।

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!