लिथुआनिया विवाद में चीन के खिलाफ WTO पहुंचा यूरोपीय संघ, दर्ज कराई शिकायत

Edited By Tanuja,Updated: 30 Jan, 2022 05:06 PM

eu launches wto action against china over lithuania dispute

लिथुआनिया से भेदभाव करने पर यूरोपीय संघ ने विश्व व्यापार संगठन के मंच पर चीन के खिलाफ शिकायत दर्ज की है। EU का कहना है कि इस बाल्टिक ...

ब्रुसेल्सः लिथुआनिया से भेदभाव करने पर यूरोपीय संघ ने विश्व व्यापार संगठन के मंच पर चीन के खिलाफ शिकायत दर्ज की है। EU का कहना है कि इस बाल्टिक देश के साथ चीन के झगड़े से अन्य देशों का निर्यात भी प्रभावित हो रहा है। दरअसल, लिथुआनिया ने चीन के साथ कूटनीतिक परंपरा को तोड़ते हुए ताइवान में अपना कार्यालय चीनी ताइपे के बजाय ताइवान नाम से खोला है। ताइपे के विलयुनेस स्थित इस ताइवानी कार्यालय को चीन अपने साथ विश्वासघात के रूप में देखता है। चूंकि वह ताइवान को अलग देश के बजाय अपना अभिन्न अंग मानता है।

 

अब भड़के चीन ने लिथुआनिया के राजदूत को बर्खास्त कर दिया है और अपने राजदूत भी वहां से वापस बुला लिया है। पिछले महीने लिथुआनिया ने चीन की राजधानी में अपने दूतावास को बंद कर दिया था। तनाव बढ़ने के बाद लिथुआनिया ने चीन पर आरोप लगाया कि उसने व्यापारिक वस्तुओं को चीन की सीमा पर ही रोक दिया । इसलिए इस मुद्दे को यूरोपीय संघ अब विश्व व्यापार संगठन के समक्ष उठा रहा है।

 

यूरोपीय संघ के कार्यकारी उपाध्यक्ष वाल्दिस डोम्ब्रोवकिस ने कहा कि डब्ल्यूटीओ में किसी मामले को ले जाने को हम मामूली नहीं समझते हैं। बार-बार की कोशिशों के बावजूद यह मसला द्विपक्षीय स्तर पर नहीं सुलझ पाया है। इसलिए इस मामले को अब डब्ल्यूटीओ के पास ले जाने के सिवाय कोई और रास्ता नहीं बचा है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!