पेलोसी ने द.कोरियाई नेताओं से की मुलाकात, चीनी सैन्य अभ्यास के बाद ताइवान ने उड़ानें कीं रद्द

Edited By Tanuja,Updated: 04 Aug, 2022 04:45 PM

in south korea nancy pelosi avoids public comments on taiwan chin

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने बृहस्पतिवार को दक्षिण कोरिया के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की। पेलोसी ने हालांकि इस...

इंटरनेशनल डेस्कः अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने बृहस्पतिवार को दक्षिण कोरिया के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की। पेलोसी ने हालांकि इस दौरान चीन-ताइवान के संबंधों पर प्रत्यक्ष रूप से कोई भी टिप्पणी करने से परहेज किया, जिससे क्षेत्रीय तनाव के और बढ़ने की आशंका थी। इससे एक दिन पहले पेलोसी ने चीन के कड़े विरोध के बावजूद ताइवान की यात्रा की थी। ताइवान यात्रा के बाद पेलोसी और अमेरिकी कांग्रेस के अन्य सदस्य बुधवार शाम दक्षिण कोरिया पहुंचे। दक्षिण कोरिया, अमेरिका का एक महत्वपूर्ण सहयोगी है और यहां करीब 28,500 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।

 

एशिया की यात्रा के तहत पेलोसी का सिंगापुर, मलेशिया और जापान जाने का भी कार्यक्रम है। पेलोसी ने बृहस्पतिवार को दक्षिण कोरियाई नेशनल असेंबली के अध्यक्ष किम जिन प्यो और संसद के अन्य वरिष्ठ सदस्यों से मुलाकात की। करीब एक घंटे चली बैठक के बाद पेलोसी ने द्विपक्षीय गठबंधन पर बात की और संबंधों को बढ़ावा देने के लिए विधायी प्रयासों का समर्थन किया, लेकिन अपनी ताइवान यात्रा या चीन के विरोध का कोई प्रत्यक्ष उल्लेख नहीं किया। किम के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में पेलोसी ने कहा, ‘‘ हम कहना चाहेंगे कि सुरक्षा तथा जरूरतों के कारण कई साल पहले जो दोस्ती शुरू हुई थी, वे संबंध अब बेहद गर्मजोशी भरे हो गए हैं।''

 

उन्होंने कहा, ‘‘ हम अंतर-संसदीय तरीके से उन्नत सुरक्षा, अर्थव्यवस्था और शासन चाहते हैं।'' इस दौरान पेलोसी और किम ने पत्रकारों के किसी सवाल का जवाब नहीं दिया। किम ने कहा कि उन्होंने और पेलोसी ने उत्तर कोरिया की ओर से बढ़ते परमाणु खतरों को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि वे दोनों इस बात पर सहमत हुए कि वे अपनी-अपनी सरकारों को कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण और शांति स्थापित करने के लिए उत्तर कोरिया के खिलाफ कूटनीति तथा कड़ा रुख अपनाने के लिए प्रेरित करेंगे।  

ताइवान ने कई उड़ानें की रद्द
उधर,  नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा की प्रतिक्रिया में चीनी नौसना की ओर से किए गए मिसाइल दागे जाने के बाद बृहस्पतिवार को ताइवान ने कई उड़ानें रद्द कर दीं। ताइवान को चीन अपना क्षेत्र होने का दावा करता है। चीन ने भी जहाजों और विमानों को सैन्य अभ्यास के दौरान स्वशासित द्वीप के आसपास के क्षेत्रों में सेवाएं संचालित करने से बचने का आदेश दिया है। हांगकांग के अखबार ‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट' ने सैन्य अभ्यास को ‘‘ताइवान की प्रभावी नाकेबंदी'' करार दिया है।

 

बीजिंग की चेतावनी को नजरअंदाज कर पेलोसी मंगलवार को अपनी एक दिन की ताइवान यात्रा पर पहुंची थीं। इसके बाद चीन ने ताइवान के आसपास सैन्य अभ्यास की शुरुआत की थी। चीन ने मछली और फल समेत सैकड़ों ताइवानी उत्पादों के आयात पर रोक लगा दी है। ‘चाइना टाइम्स' की खबर के मुताबिक, बृहस्पतिवार को ताइवान से आने-जाने वालीं कम से कम 40 उड़ानें रद्द कर दी गईं। हालांकि, खबर में राजधानी ताइपे के ताओयुयान हवाई अड्डे के हवाले से कहा गया कि यह जरूरी नहीं है कि उड़ानों को रद्द करने का संबंध सैन्य अभ्यास से है। 

 

 पेलोसी की यात्रा के एक दिन बाद  ताइवान जलडमरूमध्य में युद्धाभ्यास कर रही चीनी सेना
 चीन की सेना ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की यात्रा के एक दिन बाद बृहस्पतिवार को ताइवान जलडमरूमध्य में युद्धाभ्यास के दौरान लक्ष्यों पर सटीक हमले किए, जिनके ''अपेक्षित परिणाम'' हासिल हुए हैं। चीनी सेना ने यह जानकारी दी। ताइवान पर चीन का कभी नियंत्रण नहीं रहा है, लेकिन वह इसे अपना क्षेत्र मानता है। साथ ही वह लंबे से कहता रहा है कि जरूरत पड़ी तो वह बलपूर्वक ताइवान को अपनी मुख्य भूमि में मिला सकता है। पेलोसी (82) की यात्रा से चीन नाराज है, जो बुधवार को ताइवान से जा चुकी हैं।

 

लगभग 25 वर्ष के बाद अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के किसी वर्तमान अध्यक्ष की यह पहली ताइवान यात्रा थी। पेलोसी की यात्रा के चलते पहले से तनावपूर्ण चीन-अमेरिका संबंधों में और खटास आने के संकेत मिले हैं। चीन ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि पेलोसी की यात्रा का ''चीन-अमेरिका संबंधों की राजनीतिक नींव पर गंभीर प्रभाव'' पड़ेगा। आधिकारिक मीडिया ने यहां कहा कि पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) ने बृहस्पतिवार दोपहर बाद लंबी दूरी तक हमलों का अभ्यास किया, जिसके तहत ताइवान जलडमरूमध्य के पूर्वी हिस्सों में निर्धारित स्थानों पर बमबारी की गई। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!