राष्ट्रपति चुनाव: शाह ने दिए संकेत, अब विपक्ष से पूछेंगे नहीं सीधा बताएंगे उम्मीदवार का नाम

Edited By Punjab Kesari,Updated: 18 Jun, 2017 10:49 AM

amit  shah hints  opposition has no chance now to suggest a name

राष्ट्रपति चुनाव के लिए राजनीति गलियारे में हलचल मची हुई है। इसी बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने संकेत दिए हैं कि अब विपक्षी कांग्रेस तथा वामदलों के पास राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम सुझाने का संभवतः कोई मौका नहीं बचा है।

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव के लिए राजनीति गलियारे में हलचल मची हुई है। इसी बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने संकेत दिए हैं कि अब विपक्षी कांग्रेस तथा वामदलों के पास राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम सुझाने का संभवतः कोई मौका नहीं बचा है। शाह ने कहा कि पार्टी के नेतृत्व वाली मोदी सरकार के दो मंत्रियों राजनाथ सिंह तथा एम. वेंकैया नायडू जब विपक्षी दलों के पास पहुंचे थे उनके पास  कोई नाम पहले से तय नहीं थे। शाह ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) राष्ट्रपति पद के लिए प्रत्याशी का नाम अपने आप तय करेगा।

तब विपक्ष लगाता आरोप
शाह ने कहा कि सरकार ने इसलिए पहले से किसी उम्मीदवार का नाम नहीं विपक्ष के सामने रखा क्योंकि फिर यहीं पार्टियां बाद में आरोप लगातीं कि हमने अपने उम्मीदवार का नाम पहले ही तय कर दिया। उन्होंने कहा, "हम उनके पास सुझाव मांगने गए थे... अब अगर आप (कोई सुझाव) नहीं देना चाहते, तो अब हम उनके पास तब जाएंगे, जब हम फैसला ले चुके होंगे।"

बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के मुद्दे पर अन्य दलों से विचार-विमर्श करने के लिए भाजपा ने एक समिति का गठन किया था, जिसमें राजनाथ सिंह, वेंकैया नायडू तथा वित्तमंत्री अरुण जेटली शामिल हैं। जेटली फिलहाल विदेश में हैं इसलिए राजनाथ और नायडू ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की थी।  सोनिया गांधी अलावा वे वाम नेता (मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी या सीपीएम के प्रमुख) सीताराम येचुरी समेत कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात करने पहुंचे थे।

कांग्रेस ने लगाए आरोप
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और गुलाम नबी आजाद ने सोनिया से भाजपा नेताओं की मुलाकात के बाद कहा कि उन्होंने कोई नाम ही नहीं बताया बल्कि वे तो हमसे ही बार-बार नाम पूछते रहे। कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के आरोपों पर शाह ने शनिवार को जवाब दिया। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का पांच साल का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। वहीं सूत्रों के मुताबिक भाजपा नीत एनडीए सरकार राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी अपना नामांकन पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 24 जून को अमेरिका रवाना होने से पहले दाखिल कर देंगे।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!