सब्सिडी कम करने के लिए और प्रयास करने की जरुरत: रंगराजन

  • सब्सिडी कम करने के लिए और प्रयास करने की जरुरत: रंगराजन
You Are HereBusiness
Friday, December 27, 2013-10:32 AM

चेन्नई: प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (पीएमईएसी) के चेयरमैन सी रंगराजन ने आज कहा कि सब्सिडी घटाने के लिए और प्रयास करने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि सरकार को सब्सिडी की मात्रा नियत करने के साथ उन क्षेत्रों की प्राथमिकता निर्धारित करने की आवश्यकता है जहां ध्यान देने की वास्तव में जरुरत है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत राजकोषीय घाटा 4.8 प्रतिशत पर सीमित रखने में कामयाब होगा। इसके आगे उच्च आर्थिक वृद्धि की जरुरत है ताकि सरकार का राजस्व बढ़ सके।

रंगराजन ने एक कार्यक्रम के दौरान अलग से बातचीत में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरे हिसाब से सब्सिडी घटाने के लिए प्रयास हो रहे हैं। हमें और कुछ करने की जरुरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें सब्सिडी की कुल मात्रा नियत करनी चाहिए और अन्य सब्सिडी अगर काफी महत्वपूर्ण है तो उसका समायोजन करना चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि कुल सब्सिडी निर्धारित किया जाए। यह सरकार को निर्णय करना है कि किस सब्सिडी को दूसरे के मुकाबले प्राथमिकता दी जाए।’’

राजकोषीय घाटे के नियंत्रण के मुद्दे पर रंगराजन ने कहा कि वह इसके जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) के 4.8 प्रतिशत रहने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं। इसके आगे उच्च कर राजस्व प्राप्त करने के लिए वृद्धि दर महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, ‘‘इसीलिए सबसे महत्वपूर्ण यथाशीघ्र उच्च वृद्धि के रास्ते पर लौटना है।’’ वस्तु एवं सेवा कर लागू किए जाने के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘यह अगले वित्त वर्ष (2014-15) में होगा।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You