लिमिटेड कैशः नियमों में बदलाव से बैंक अधिकारी परेशान

  • लिमिटेड कैशः नियमों में बदलाव से बैंक अधिकारी परेशान
You Are Herebanking
Friday, November 18, 2016-4:48 PM

नई दिल्लीः मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट रद्द करने का सरकारी हुक्म जारी होने के नौ दिन बाद भी देश भर में बैंकों और एटीएम के सामने लोग अपने पैसों के लिए घंटों खड़े होने को मजबूर हैं। तमाम शाखाओं में कैश खत्म होने से बैंक अधिकारियों को हाथ खड़े करने पड़ रहे हैं। हाल यह रहा कि नौवां दिन बीतने पर भी वित्त मंत्री अरुण जेटली देश के 2 लाख में से बमुश्किल 22,500 एटीएम को नए नोटों के लायक बनाए जाने का दावा कर सके।

बार बार लिमिट बदलने का सिलसिला जारी
वहीं मोदी सरकार ने विदड्रॉल्स और एक्सचेंज की लिमिट बदलने का सिलसिला गुरुवार को भी जारी रखा। राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल न लिए जाने की अवधि बढ़ाकर 24 नवंबर की आधी रात कर दी गई। सरकारी नियम बार-बार बदले जाने से बैंक अधिकारी उलझन में पड़ गए हैं। गुरुवार को सरकार ने पुराने नोटों के लिए वन-टाइम एक्सचेंज लिमिट 4,500 रुपए से घटाकर 2000 रुपए कर दी। इससे पहले इसे बढ़ाकर 4000 रुपए किया गया था।

सेविंग्स अकाउंट यूजर्स की विदड्रॉल लिमिट में बदलाव
सेविंग्स बैंक अकाउंट यूजर्स के लिए वीकली विदड्रॉल विदड्रॉल लिमिट मंगलवार को 20,000 रुपए से बढ़ाकर 24,000 रुपए की गई थी और 10,000 रुपए प्रतिदिन की लिमिट खत्म की गई थी। एटीएम विदड्रॉल्स की लिमिट पहले के 2000 रुपए से बढ़ाकर 2500 रुपए की गई थी, लेकिन ऐसा उन्हीं एटीएम में हो पाएगा, जिन्हें नए नोटों के लिए ठीक किया जा चुका है।

स्थिति सुधरने के दावे खोखले
बैंक सार्वजनिक तौर पर तो यही कह रहे हैं कि स्थिति सुधर गई है, लेकिन जमीनी तस्वीर बता रही है कि नैशनल कैपिटल रीजन में भी कुछ ही इलाकों में ऐसा है। बाकी देश कतार में है। बैंकरों ने कहा कि नियमों में अचानक बदलाव से तालमेल बैठाने में उन्हें दिक्कत हो रही है। चूंकि पर्याप्त नोट नहीं हैं, लिहाजा बैंकों को अपनी ओर से प्रतिबंध लगाने पड़ रहे हैं।

एटीएम को 'बंद है या कैश नहीं है' की लगानी पड़ती है तख्ती 
कैश लिमिटेड है। 'बंद है या कैश नहीं है' की तख्ती लगाकर कई एटीएम को अपना मुंह छिपाना पड़ रहा है और कस्टमर्स को बताना पड़ रहा है कि सेविंग्स बैंक एकाउंट होल्डर्स को केवल 15,000 रुपए और करेंट एकाउंट होल्डर्स को 25,000 रुपए दिए जाएंगे।' नई दिल्ली के क एक बैंक मैनेजर ने कहा कि विदड्रॉल के लिए रोज केवल 50 टोकन जारी किए जा रहे हैं क्योंकि इतने ही कैश का इंतजाम हो पा रहा है और यह पैसा भी एक-दो घंटे में खत्म हो जा रहा है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You