उपभोक्ताओं को नहीं मिल रही सब्सिडी, लगातार हो रही शिकायतें

  • उपभोक्ताओं को नहीं मिल रही सब्सिडी, लगातार हो रही शिकायतें
You Are HereBusiness
Thursday, April 20, 2017-11:59 AM

नई दिल्लीः अधिकतर गैस उपभोक्ताओं को उनकी सब्सिडी का पैसा उनके बैंक खाते में नहीं रहा है। उपभोक्ता लगातार इसकी शिकायत कभी बैंक तो कभी गैस एजेंसी डीलर से कर रहे हैं, लेकिन हर जगह उन्हें निराशा ही हाथ लग रही है। सही जवाब किन्हीं के पास नहीं है। अभी बाजार में 14.2 किलो गैस सिलेंडर की कीमत 791 रुपए है जिसे उपभोक्ता नकद भुगतान कर प्राप्त करते हैं। इसके बाद गैस एजेंसी के वाईसी के माध्यम से सब्सिडी का 320 रुपए उपभोक्ता के खाते में जमा करा देती है, पर चास सहित बोकारो के अधिकतर उपभोक्ताओं के बैंक खाते में सब्सिडी का पैसा पिछले चार महीने से ज्यादा समय से नहीं रहा है।

जिले में 1 लाख 20 हजार से ज्यादा घरों में गैस कनेक्शन है। इन उपभोक्ताओं से केवाईसी फार्म और बैंक एकाउंट लिया गया है। शुरुआत के कुछ महीनों तक उनके खाते में सब्सिडी की राशि भेजी गई। अब अचानक सब्सिडी की राशि बंद कर दी गई है। लोग एक दूसरे से पूछ रहे हैं कि उनके खाते में सब्सिडी की राशि रही है या नहीं। सभी का जवाब एक ही है कि राशि नहीं रही है। 

मोबाइल पर मैसेज आने से मिलनी है सब्सिडी की राशि 
उपभोक्ताका गैस कनेक्शन नंबर जैसे ही बैंक खाते या आधार के साथ लिंक होता है उन्हें गैस बुक कराने के लिए पंजीकृत कराए गए मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आता है। इसका मतलब यह है कि इसके बाद बुक या डिलिवर किए गए सिलेंडर की सब्सिडी अब सीधे उनके बैंक खाते में जाएगी। वहीं उपभोक्ता को गैर सब्सिडी सिलेंडर का भुगतान करने से पहले डिलिवरी मैन से रिफिल वाउचर लेना भी अनिवार्य होता है। उस पर देखें कि एजेंसी ने कितनी राशि का वाउचर काटा है। डिलिवरी मैन को उतनी ही राशि दें। साथ ही अपना स्टेट्स जांच करें या गैस एजेंसी से संपर्क करें। 

एजेंसी को करनी होगी शिकायत 
आईटीके जानकार एसके बाघबानुआर बताते हैं कि मोबाइल में एक बार शून्य दबाने के बाद उपभोक्ताओं को सब्सिडी की राशि नहीं मिलेगी। इसके लिए उन्हें एजेंसी को शिकायत करनी होगी। एजेंसी इसे कंपनी को भेजेगी। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You