जाड़े से पहले की मांग बढऩे से गुड़ कीमतों मजबूती का रुख रहा

  • जाड़े से पहले की मांग बढऩे से गुड़ कीमतों मजबूती का रुख रहा
You Are Hereagriculture
Sunday, November 13, 2016-3:11 PM

नई दिल्ली: उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति में गिरावट के कारण सीमित स्टॉक होने के मुकाबले जाड़े से पहले स्थानीय लिवालों और स्टॉकिस्टों की मांग में आई तेजी के कारण बीते सप्ताह राष्ट्रीय राजधानी के थोक गुड़ बाजार में गुड़ कीमतों में मजबूती का रुख दिखाई दिया। 

बाजार सूत्रों ने कहा कि उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति में गिरावट के कारण स्टॉक की कमी होने के मुकाबले स्थानीय लिवालों और स्टॉकिस्टों की मांग में आई तेजी से मुख्यत: गुड़ कीमतों में तेजी आई। सरकार के द्वारा काले धन पर रोक लगाने के प्रयास के तहत 500 रुपए और 1,000 रुपए के नोट को चलन से बाहर करने के बाद धन की कमी होने की वजह से पड़ोसी क्षेत्रों से पूछताछ लगभग नगण्य रही। 

दिल्ली में गुड़ चक्कू और पेड़ी की कीमतें 100-100 रुपए की तेजी के साथ सप्ताहांत में क्रमश: 3,000-3,100 रुपए और 3,200-3,300 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई। गुड़ ढैय्या और शक्कर की कीमतें भी समान अंतर की तेजी के साथ क्रमश: 3,400-3,500 रुपए और 3,500-3,600 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई। मुजफरनगर में गुड़ लड्डू की कीमत पिछले सप्ताहांत के बंद स्तर 2,600-2,850 रुपए से बढ़कर 2,900-3,000 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई। जबकि गुड़ रस्कट की कीमत पिछले सप्ताहांत के बंद स्तर 2,600-2,650 रुपए प्रति क्विंटल से घटकर 2,500-2,600 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई। मुरादनगर में गुड़ पेड़ी और ढैय्या की कीमतें पिछले सप्ताहांत के बंद स्तर क्रमश: 2,750-2,800 रुपए और 2,900-2,950 रुपए प्रति क्विंटल के मुकाबले विगत सप्ताहांत में 2,850-2,900 रुपए और 2,950-3,000 पर बंद हुई। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You