सिम के वेरीफीकेशन करवाना होगा आसान, नई रूपरेखा को UIDAI की मंजूरी

You Are HereBusiness
Wednesday, November 15, 2017-5:51 PM

नई दिल्लीः भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आधार आधारित सिम के वेरीफीकेशन के लिए ओटीपी जैसे नए तरीकों को परिचालन में लाने की रूपरेखा को मंजूरी दे दी है। आपरेटर मौजूदा ग्राहकों के सिम के पुन: वेरीफीकेशन के लिए नए तरीके एक दिसंबर से लागू करेंगे।

यू.आई.डी.ए.आई. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडे ने कहा, ‘‘दूरसंचार कंपनियों की योजना को मंजूरी दे दी गई है। आपरेटर हमारे पास आए थे। उन्होंने इसे 1 दिसंबर से क्रियान्वित करने की बात कही है।’ सरकार ने पिछले महीने ग्राहकों के मोबाइल नंबरों को आधार से जोडऩे के तीन तरीकों की घोषणा की थी। इससे ग्राहकों को अपने घर से सिम के पुन: सत्यापन की सुविधा मिलेगी। इसके बाद आपरेटरों से अपनी रूपरेखा के साथ यू.आई.डी.ए.आई. से संपर्क करने को कहा गया था, जिससे वे अनुमति वाली नई प्रक्रियाओं को परिचालन में ला सकें और नई प्रणाली को क्रियान्वित कर सकें। हालांकि, इसके लिए पहले यूआईडीआई की मंजूरी जरूरी थी।  

इस योजना पर विचार के बाद सुरक्षा, अनुपालन और आधार कानून तथा निजता के संरक्षण के पहलुओं को देखते हुए मंजूरी दी गई है। नए मंजूर तरीकों के तहत मोबाइल नंबर को आधार से ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड), एप और आई.वी.आर.एस. के जरिए जोड़ा जा सकता है। इस उपाय का उद्देश्य समूची प्रक्रिया को सरल करना और लोगों के लिए इसे सुगम बनाना है।   
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You