हाजिर रूई बाजार ने तेजडिय़ों को दिखाए तेवर

  • हाजिर रूई बाजार ने तेजडिय़ों को दिखाए तेवर
You Are HereBusiness
Sunday, July 16, 2017-11:25 AM

जैतो: देश के विभिन्न कपास पैदावार राज्यों की मंडियों में अभी तक लगभग 3 करोड़ 35 लाख गांठ आने की सूचना है जबकि देश में अब रोजाना कपास आमद 30,000 गांठ से नीचे रह गई है। गत वर्ष देश में पूरे सत्र के दौरान लगभग 3 करोड़ 37 लाख 75 हजार गांठ मंडियों में आई थी। इस बार कपास पैदावार के आंकड़े 3.40 से 3.45 करोड़ गांठ के आ रहे हैं। 

सूत्रों के अनुसार देश में 30 से 34 लाख गांठ का अनसोल्ड स्टाक माना जा रहा है लेकिन रूई के तेजडिय़ों का मानना है कि स्टाक लगभग 23 से 25 लाख गांठ ही है। देश में कपास सत्र वर्ष 2017-18 के दौरान किसानों ने कपास की रिकार्ड बुआई की है। माना जाता है कि देश में इस बार कपास का रकबा 122 लाख हैक्टेयर आंकड़ा पार कर जाएगा और मौसम अनुकूल रहा तो भारत कपास पैदावार में विश्व स्तर पर अपना नाम रोशन करेगा। 

मंदडिय़ों ने 20 से 30 सितम्बर रूई डिलीवरी 4211 व 4200 रुपए मन सौदे किए हैं। सितम्बर माह के नए रूई का कारोबार होने से रूई बाजार में हलचल पैदा कर दी है जिसका रूई स्टाकिस्टों पर भारी असर देखने को मिला है। हाजिर रूई में 3 दिनों में लगभग 50-60 रुपए मन डूब गए हैं और आगामी दिनों में भी रूई गंगा में गोते खाती नजर आ रही है। नए रूई कारोबार से हाजिर रूई डूब गई है।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You