जिन लोगों के पास ये सिद्धियां और निधियां आ जाती हैं वे...

  • जिन लोगों के पास ये सिद्धियां और निधियां आ जाती हैं वे...
You Are HereDharm
Tuesday, December 10, 2013-7:40 AM

जो लोग मस्तिष्क से संबंधित कार्य में लगे रहते हैं और मानसिक तनाव का सामना करते हैं या जिनका दिमाग अन्य लोगों की अपेक्षा तेज नहीं चलता है तो रोज रात को सोने से पहले हनुमान चालीसा का जप करें। यदि आप पूरी हनुमान चालीसा का जप नहीं कर सकते हैं तो इन पंक्तियों का जप करें…

बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरो पवन कुमार। बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरेहू कलेश विकार।

इस पंक्ति में हनुमान जी से यही प्रार्थना की गई है कि हे प्रभु मैं खुद को बुद्धि हीन मानकर आपका ध्यान करता हूं। कृपा करें और मुझे शक्ति, बुद्धि, विद्या दीजिए। मेरे सभी कष्ट-क्लेश दूर कीजिए। जिन लोगों को बुरे सपने आते हैं, नींद में डर जाते हैं उन्हें सोने से पहले इन पंक्तियों का जप करना चाहिए…

भूत-पिशाच निकट नहीं आवे। महाबीर जब नाम सुनावे।


इस पंक्ति के माध्यम से भक्त द्वारा हनुमान से भूत-पिशाच आदि के डर से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की जाती है।

सोने से पहले जो भी व्यक्ति इस पंक्ति का जप करता है उसे न तो बुरे सपने आते हैं और न ही कोई भय सताता है।

यदि कोई व्यक्ति भयंकर बीमारी से ग्रस्त है तो उसे सोने से पहले इस पंक्ति का जप करना चाहिए…

नासे रोग हरे सब पीरा। जो सुमिरे हनुमंत बलबीरा।।


इस पंक्ति से हम बजरंग बली से सभी प्रकार के रोगों और पीड़ाओं से मुक्ति के लिए प्रार्थना करते हैं। जो भी बीमार व्यक्ति इन पंक्तियों का जप करके सोता है उसकी बीमारी जल्दी ठीक हो जाती है।

यदि कोई व्यक्ति सर्वगुण संपन्न बनना चाहता है और घर-परिवार, समाज में वर्चस्व बनाना चाहता है, सम्मान पाना चाहता है उसे सोने से पहले इस पंक्ति का जप करना चाहिए…

अष्ट-सिद्धि नवनिधि के दाता।

अस बर दीन जानकी माता।।


इस पंक्ति के अनुसार हनुमान अष्ट सिद्धियां और नौ निधियों के दाता है। जो कि उन्हें माता सीता ने प्रदान की है। जिन लोगों के पास ये सिद्धियां और निधियां आ जाती हैं वे समाज में और घर-परिवार में मान-सम्मान और प्रसिद्धि पाते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You