लोग अपने दुख से नहीं दूसरों के सुखी होने से अधिक दुखी : गौरव कृष्ण

  • लोग अपने दुख से नहीं दूसरों के सुखी होने से अधिक दुखी : गौरव कृष्ण
You Are HereDharm
Friday, September 15, 2017-10:41 AM

श्री राधा कुंज बिहारी सेवा समिति की ओर से साईंदास स्कूल के ग्राऊंड में करवाए जा रहे श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के 5वें दिन भक्तों ने भगवान श्रीकृष्ण की माखन चोरी की लीला का जहां आनंद उठाया वहीं गोवर्धन पूजा भी की। कथा व्यास आचार्य श्री गौरव कृष्ण जी महाराज ने कहा कि राजा परीक्षित का शुकदेव जी महाराज से श्रीमद्भागवत कथा सुनने में इतना मन लगा है कि उन्हें न भूख लगती है और न ही प्यास। कंस ने पूतना को गोकुल भेजा, जो कपट रूप में भगवान के पास गई तो नन्हे कृष्ण ने उसे जोर से पकड़ा और उसे अपने धाम भेज दिया। आचार्य जी ने कहा कि आजकल लोग अपने दुख से दुखी नहीं हैं, वे तो दूसरों के सुख को देखकर दुखी हैं।


समारोह में माखन चोरी की लीला हुई और पंडाल के सभी भक्त ‘ओ माखन खा गया बिहारी मेरा हंस हंस के’ और ‘छलिया सा वेष बनाया, यह मैं जानूं या वो जाने’की धुन पर झूम उठे। समिति की ओर से गिरिराज पूजन महोत्सव मनाया गया। राजेश नाहर और सीमा नाहर के सौजन्य से भगवान को 56 भोग लगाए गए। समिति के मेजर सिंह, विकास ग्रोवर, गौरव भल्ला, गौरव मल्होत्रा, ईशू महेन्द्रू, राहुल महेन्द्रू, अश्विनी मिंटा, परमिन्द्रजीत व अन्य ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।


मुख्य यजमान- संजीव वर्मा और नीलू वर्मा ने व्यासपीठ का पूजन किया जबकि राजेश नाहर, गोपी वर्मा, कमलजीत मल्होत्रा, गौतम कुकरेजा, राहुल महेन्द्रू, हेमंत थापर, अशोक सहदेव, संजीव शर्मा, कृष्ण गोपाल बेदी, रघुनाथ शर्मा, राजिन्द्र शर्मा, राजा शर्मा और सुखविन्द्र (रोहतक) रमन सल्होत्रा ने आरती की।


मुख्यातिथि-अविनाश चन्द्र घई, नरिन्द्र सहगल, के.डी. भंडारी, मनोरंजन कालिया, राजन कालिया, हरीश सचदेवा, हरीश महेन्द्रू, पुरुषोत्तम लाल सग्गड़, अजय अग्रवाल, विशाल चौधरी, आकाश, राजिन्द्र लूथर, प्रेम कुमार, सुभाष प्रभाकर, सुनील नैयर, ब्रजेश जुनेजा, अमित जिंदल, पबिन्द्र बहल, राजेश विज, अरुण खोसला व अन्य ने गिरिराज पूजन किया।

- वीना जोशी

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You