जरदारी ने कहा, संघर्षविराम के उल्लंघन की घटनाओं से शांतिप्रक्रिया पर न पड़े असर

  • जरदारी ने कहा, संघर्षविराम के उल्लंघन की घटनाओं से शांतिप्रक्रिया पर न पड़े असर
You Are HereInternational
Friday, August 23, 2013-12:10 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने पाकिस्तान और भारत के बीच वार्ता बहाल करने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम के उल्लंघन की हाल की घटनाओं को दोनों देशों के बीच के रिश्ते सामान्य बनाने वाली प्रक्रिया को पटरी से उतारने की इजाजत नहीं दी जाए।

जरदारी ने कल कहा, ‘हम मानते हैं कि दोनों देशों के लिए आगे का रास्ता रूकी हुई समग्र वार्ता प्रक्रिया बहाल करना है।’ पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने कहा कि उनका देश भारत के साथ अपने द्विपक्षीय रिश्तों को लंबित विवादों को हल कर के एक दोस्ताना और सहयोगात्मक साझेदारी में बदलना चाहता है।

बहरहाल, जरदारी ने कहा कि दोनों पक्षों का यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि नियंत्रण रेखा पर की हाल की घटनाएं शांति प्रक्रिया को पटरी से नहीं उतारें। जरदारी ने कहा, ‘हमारी नई लोकतांत्रिक सरकार ने संयम बरता है।’ उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री (नवाज शरीफ) भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंधों के लिए प्रतिबद्ध हैं और कहा है कि उनकी सरकार संयम बरतना जारी रखेगी।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You