भारतीय मूल के रंगभेद विरोधी कार्यकर्ता ने मंडेला को श्रद्धांजलि दी

  • भारतीय मूल के रंगभेद विरोधी कार्यकर्ता ने मंडेला को श्रद्धांजलि दी
You Are HereInternational
Friday, December 06, 2013-1:04 PM

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका की जेल में नेल्सन मंडेला के साथ 26 वर्ष का एक लंबा अर्सा बिताने वाले और इस दौरान उनके करीबी मित्र बन चुके भारतीय मूल के वरिष्ठ रंगभेद विरोधी कार्यकर्ता अहमद कथराडा ने आज उन आदर्शों को जारी रखने का संकल्प लिया, जिसके लिए उनके गुरू खड़े हुए थे।

मंडेला के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हम दुख और संवेदना में डूब सकते हैं, लेकिन हमें गौरावांवित और अभारी होना चाहिए कि अड़चनों और पीड़ा भरे इस लंबे सफर के बाद, अंत में हम एक स्वतंत्रता सेनानी के रूप में आपको सलाम करते हैं।’’

नेल्सन मंडेला फाउंडेशन की ओर से जारी एक बयान में उन्होंने कहा, ‘'अलविदा मेरे बड़े भाई, मेरे गुरू, मेरा नेता। अपनी सारी ऊर्जा और दृंढ-संकल्प के साथ, हम दक्षिण अफ्रीका और पूरी दुनिया के लोगों के साथ मिल कर उन मूल्यों और आदर्शों को बनाए रखने का संकल्प लेते हैं, जिनके लिए आपने अपना जीवन न्यौछावर कर दिया।’’

कथराडा (85) ने बताया कि वह और मंडेला एक दूसरे को ‘मडाला’ कह कर पुकारा करते थे, जिसका मतलब होता है, बूढ़ा आदमी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You