केन्या मना रहा है आजादी की 50वीं सालगिरह

  • केन्या मना रहा है आजादी की 50वीं सालगिरह
You Are HereInternational
Thursday, December 12, 2013-5:07 PM

नैरोबी: केन्या ब्रिटेन से आजादी के बाद चुनौतियों के बीच तरक्की और खुशहाली की राह में अपने सफर की 50वीं सालगिरह मना रहा है। जश्न का आगाज आधी रात को हुआ, जब उहूरू गार्डन्स में केन्याई झंडा फहरा कर 50 साल पहले मिली आजादी याद की गई। केन्या 1895 से ब्रिटिश की गुलामी और शोषण का शिकार था।

उधर, जोमो केन्याटा को अपने अंदाज में मनाने और उसे एक यादगार लम्हे में बदलने के लिए कुछ जियाले माउंट केन्या की बर्फ से ढकी शिखर पर राष्ट्रीय ध्वज फहरा रहे थे। इतिहास के एक और पल को दोहराने के लिए राष्ट्रपति उहूरू केन्याटा आज जनसमूह और क्षेत्रीय देशों के राष्ट्रपतियों को संबोधित करेंगे। 50 साल पहले उनके पिता जोमो केन्याटा ने आजादी हासिल करने के बाद देश के पहले राष्ट्रपति बने थे। तब, आजादी की खुशी से केन्या की आम आवाम ने सड़कों पर झूम-झूम कर गाया था और पागलों की तरह नाची थी।

50 साल के बाद चीजें बदली हैं। आज जब उपनिवेश-विरोधी भावनाएं उभारी जा रही है, केन्याटा पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ रहा है। उन पर अगले साल मानवता विरोधी अंतरराष्ट्रीय अपराध का मुकदमा चलने वाला है। केन्याटा ने इन आरोपों से इनकार किया है कि 2007 में चुनाव के बाद उन्होंने हिंसा कराई थी, जिसमें 100 से ज्यादा लोग मारे गए थे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय अदालत में अपना मुकदमा निलंबित कराने की जोरदार मुहिम चलाई है और अफ्रीकी राष्ट्रपतियों तथा अफ्रीकी संघ से समर्थन मांगा है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You